भारत में कोरोना का कहर बढ़ता ही जा रहा है और केसेस सारे रिकॉर्ड तोड़ रहे हैं। ऑक्सीजन की कमी और बेड न मिल पाने से कई मरीज अपना दम तोड रहे हैं। दवाइयों, ऑक्सीजन और बेड की कमी को लेकर चारों ओर हाहाकार मचा हुआ है। लेकिन अब एक अमेरिकी स्टडी में ऐसा दावा किया गया है जो हमें चिंता में डाल सकता है, इसके अनुसार मई के मध्य तक भारत में कोरोना से प्रतिदिन 5000 मौतें होगी।

अमेरिकी स्टडी ने चेताया है कि कोरोना वायरस से होने वाली मौतों का आंकड़ा भारत में रोजाना मई के मध्य तक 5,600 पर पहुंच सकती है।

वाशिंगटन यूनिवर्सिटी में इंस्टीट्यूट फॉर हेल्थ मेट्रिक्स एंड इवैल्यूएशन (IHME) द्वारा 'कोविड-19 अनुमान' नाम से अध्ययन किया गया। इसमें कहा गया है कि कोरोना के कहर को अब केवल टीकाकरण ही कम कर सकता है। आईएचएमई के विशषज्ञों ने स्टडी में चेताया है कि आने वाले हफ्तों में भारत में कोरोना वायरस से बहुत बुरी हालत होने वाली है।

इस हिसाब से 12 अप्रैल से 1 अगस्त के बीच में 3 लाख 29 हजार मौतों का अनुमान लगाया गया है। इस तरह से जुलाई के अंत तक देश में कोरोना वायरस के जान गंवाने वालों की संख्या 6 लाख 65 हजार पार कर जाएगी। इस स्टडी में ये भी दावा किया गया है कि तब हर दिन संक्रमितों को संख्या भी प्रति दिन 8 लाख तक पहुंच जाएगी।


You may also like

Travel Tips :  भारत के ये शहर अपनी मिठाइयों की वजह से प्रसिद्ध है ,जानिए इनसे जुड़े रोचक तथ्यों के बारे में
BLACK SALT WATER : काले नमक का पानी पीने से सेहत को होते है इतने जबरदस्त फायदे