कोरोना वायरस की वजह से संकट लगातार बढ़ता जा रहा है। देश में ऑक्सीजन की भी बेहद कमी है। लेकिन अब केंद्र सरकार से लेकर राज्य सरकार कई कदम उठा रही है जिस से ऑक्सीजन की किल्ल्त जल्द ही खत्म हो जाएगी। सभी के मन में यही सवाल है कि आखिर कोरोना से बिगड़ी स्तिथि कब सही होगी? अगर आप भी भारत की स्थिति को लेकर चिंतित है तो जानते हैं कि अभी की स्थिति को लेकर एक्सपर्ट क्या कह रहे हैं…

सिम्बॉयसिस के एक इवेंट को संबोधित करते हुए डॉक्टर देवी शेट्टी ने इस बारे में बताया कि भारत में ये हालात कब तक सही होंगे? डॉक्टर शेट्टी का कहना है, ‘हमने कई तरह की दिक्कतें देखी हैं। जब कोरोना से हमने जंग लड़ना शुरू किया तब हमारे पास पीपीटी, वेंटिलेटर वगैहरा कुछ नहीं था, लेकिन कुछ ही हफ्तों में अब एक्सपोर्ट करने की हालत में आ गए है।’ डॉक्टर का मानना है कि हम एक ऐसे देश में हैं जो किसी भी परिस्थिति से लड़ सकता है और बहुत जल्दी हालातों को बदल सकता है।


कुछ ही दिनों में ठीक हो जाएंगे हालात

ऑक्सीजन की स्थिति को लेकर डॉक्टर ने कहा, ‘किसी ने नहीं सोचा था कि ऐसा कुछ जोगा लेकिन, नौजवानों के देश में लोग अपनी आवश्यकताओं के लिए बाहर जा रहे हैं और वायरस के नेचर की वजह से काफी यह लगातार बढ़ता गया। हालांकि, मुझे विश्वास है कि सरकार और इंडस्ट्री की वजह से ऑक्सीजन की दिक्कत दूर हो जाएगी। हमारे पास कई स्टील फैक्ट्री है और जल्द ही उनकी वजह से हालात कंट्रोल में आ जाएंगे।’

ये आ सकती है समस्या

हालांकि, डॉक्टर शेट्टी ने चेताया कि आने वाले समय में भारत के सामने मेडिकल स्टाफ की कमी बड़ी समस्या बनकर सामने आ सकती है। लेकिन भारत इस कमी को भी बड़ा आसानी से पूरा कर सकता है।

डॉक्टर शेट्टी ने बताया, ‘जो लोग पॉजिटिव आ रहे हैं, इसमें 5 फीसदी लोगों को आईसीयू की आवश्यकता है। ऐसे में हर रोज 80 हजार आईसीयू बेड की आवश्यकता है। भारत के पास सिर्फ 75-80 हजार आईसीयू बेड हैं, जो अभी पूरी तरह से भरे हुए हैं और कोविड अभी तक पीक पर नहीं पंहुचा है। जो भी मरीज आईसीयू में जाता है, वो कम से कम 10 दिन तक अस्पताल में रहता है, इसलिए इस बात से आप स्तिथि का अंदाजा लगा सकते हैं।

उन्होंने बताया, ‘अभी भारत को कुछ हफ्तों में 5 लाख एडिशिनल आईसीयू बेड की आवश्यकता है और उसी के हिसाब से डॉक्टर्स, नर्स की भी आवयश्कता है।'


You may also like

Travel Tips : जानिए भारत की एक ऐसी झील से जुड़े रोचक तथ्यों के बारे में जिसे चांद की झील के नाम से भी जाना जाता है
COVID 19: सर्कार ने जारी कियें 'Coviself' किट, घर बैठे करें कोरोना का टेस्ट