भारतीय कप्तान विराट कोहली ने खुलासा किया है कि 2011 में विश्व कप जीतने के बाद टीम ने दिग्गज क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर को कंधों पर उठाने का फैसला क्यों किया।

2 अप्रैल 2011 को, भारत ने फाइनल में वानखेड़े स्टेडियम में श्रीलंका को छह विकेट से हराकर अपना दूसरा एकदिवसीय विश्व कप जीता। जीत के बाद पूरी टीम ने सचिन को सम्मान की गोद में अपने कंधे पर बैठाया था।

विराट ने भारतीय क्रिकेटर मयंक अग्रवाल से 'मयंक के साथ ओपन नेट्स' के लेटेस्ट एपिसोड में बात कर रहे थे, जब कप्तान ने सचिन को दिए गए सम्मान के बारे में पूछा।

इस पर विराट ने जवाब दिया कि "सबसे पहले मेरी उस समय ये फीलिंग्स थी कि हमने विश्व कप जीता था। मुझे बहुत ख़ुशी हो रही थी। लेकिन वास्तव में सभी की भावना 'पाजी' (सचिन तेंदुलकर) के इर्द-गिर्द केंद्रित थी क्योंकि हम जानते थे कि विश्व कप जीतने का यह उनका अंतिम मौका था। उन्होंने भारत को जीत दिलाने के लिए इस खेल में काफी कुछ किया और अपना योगदान दिया था। वे सभी के लिए एक प्रेरणा के समान थे।

loading...

You may also like

जानिए कौन है युजवेंद्र चहल की होने वाली वाइफ धनश्री वर्मा ?
आंद्रे रसेल की पत्नी का वीडियो सोशल मिडिया पर हुआ आग की तरह वायरल, यहां देखे वीडियो