जर्मन लीग बुंडेसलिगा के क्लब लीपज़िग ने अपने 10 खिलाड़ियों के साथ खेलने के बावजूद, 28 वें दौर के मैच में हर्था बर्लिन को 2-2 से ड्रा पर रोक दिया। समाचार एजेंसी सिन्हुआ की रिपोर्ट के अनुसार, हर्था बर्लिन के मार्को ग्र्यूजिक ने लीपज़िग के बचाव में एक गोल करके अपनी टीम को नौवें मिनट में बढ़त दिला दी। लेकिन लुकास क्लोस्टरमैन ने 24 वें मिनट में गोल कर लीपजिग को 1-1 से बराबर कर दिया। हाफ टाइम तक दोनों टीमें 1-1 से बराबरी पर थीं।

खबरों के मुताबिक, आधे समय के बाद, लीपज़िग के हेल्टनबर्ग को 63 वें मिनट में लाल कार्ड दिखाया गया और अब उन्हें अपने 10 खिलाड़ियों के साथ खेलना था। हालांकि, इसका टीम पर ज्यादा असर नहीं हुआ और लिपजिग ने 68 वें मिनट में पैट्रिक स्किक के गोल से 2-1 की बढ़त ले ली।



लीपज़िग की टीम एक समय जीत की ओर बढ़ रही थी लेकिन आगे क्रिस्टोफ़ पीटेक ने 82 वें मिनट में पेनल्टी पर गोल करके हर्था को 2-2 से हरा दिया और मैच 2-2 की बराबरी पर चला गया। ड्रॉ के बावजूद, लीपज़िग तीसरे नंबर पर है जबकि हर्था बर्लिन 10 वें नंबर पर है।

loading...

You may also like

सुनील गावस्कर ने इस खिलाड़ी को बताया बेस्ट क्रिकेटर
जानिए विराट कोहली की जिंदगी के 5 सबसे बड़े विवाद