स्पॉट्स न्यूज:- इंग्लैंड टूर की वजह से विराट कोहली कई दिनों से चर्चा में बने हुए है। हर कोई भगवान पिता सचिन तेंदुलकर से उनकी तुलना करता है। इससे पहले कप्तान स्टीव वॉ ने उनकी बल्लेबाजी की खूब प्रशंसा की है और अब फिर से भारत के पूर्व कप्तान सुनील गावस्कर ने इंग्लैंड के खिलाफ पहले टेस्ट में विराट कोहली की बल्लेबाजी की सराहना की, गावस्कर ने कहा कि यह श्रेय बल्ले की बदलती गति पर जाता है।



पिछले चार साल से कोहली इंग्लैंड दौरे पर हमेंशा असफल रहे है, इस बार उन्होंने पहले टेस्ट में शतक बनाया लेकिन वह भारत को हार से बचाने में नाकाम रहे। गावस्कर ने कहा, 'यह शानदार था। उन्होंने बल्ले की गति में कुछ बदलाव किए हैं। 2014 में, वह ऑफ-स्टंप से गेंदों को खेलने में असमर्थ थें। '

गावस्कर ने कहा, " क्या वह बदल गए है, मानसिक रूप से खुद को ढालना, कोई असाधारण बात नहीं है, यही कारण है कि वह हमेंशा अच्छे रन बनाने में कामयाब रहते है। '


गावस्कर ने कहा कि इंग्लैंड में फुटवर्क और संयम की बहुत जरूरत होती है। उन्होंने कहा, "फुटवर्क और संयम बहुत महत्वपूर्ण हैं क्योंकि गेंद आती है।"


गावस्कर ने कहा, ' उपमहाद्वीप खिलाडिय़ों के लिए यह आसान नहीं है और इसलिए मैं यह कहता हूं कि हमें लाल गेंद के लिए और क्रिकेट खेलना चाहिए। "

You may also like

भारत-वेस्ट इंडिज का चौथा ओडीआई आज, ब्रैबर्न में पहली बार होगा इन टीमों का सामना!
ऑस्ट्रेलिया-वेस्टइंडीज के खिलाफ टी -20 टीम की घोषणा, एमएस धोनी है टीम से बाहर!