दोस्तों आज हम इस आर्टिकल में आप लोगों को बताने वाले हैं. कि क्रिकेट एक ऐसा खेल है. जिसमें क्रिकेट खिलाड़ी अपने प्रदर्शन के आधार पर स्टारडम बनाता है. पैसा और शोहरत मिलने के बाद इंसान का रहन-सहन और व्यवहार बदल जाता है. लेकिन मित्रों हम आप लोगों को बताने वाले इंडिया क्रिकेट टीम के बेहतरीन ओपनर बल्लेबाज रोहित शर्मा के बारे में जिन्होंने सब कुछ पैसा ही नहीं होता इस बात को सच साबित करके दिखाया है.

करोहित शर्मा का बचपन काफी गरीबी में बीता है. रोहित शर्मा के पिता गुरुनाथ शर्मा जो किसी परिवहन कंपनी का देखभाल का काम करते थे. रोहित की पिता की आय अधिक नहीं थी, इसलिए उनका पालन पोषण बोरीवली में उनके दादा और चाचा ने किया था. रोहित शर्मा ने साल 1999 में अपने चाचा की आय से ही एक क्रिकेट कैम्प में क्रिकेट खेलना शुरू किया था. रोहित शर्मा को उनके चाचा ने ही पहला बल्ला दिलाया था.

रोहित मैच के दौरान ड्रेसिंग रूम से बाहर निकलकर फैमिली बॉक्स में अपनी बेटी समायरा को अक्सर इंटरटेन करते हुए नजर आते हैं. आईपीएल मैच के दौरान भी रोहित को अपनी पत्नी रितिका सजदेह और बेटी समायरा के साथ मैदान पर ही समय बिताते हुए देखा गया है.

रोहित ने मुंबई के इस्लाम जिमखाना में स्थित क्रिकेट अकादमी में बच्चों के साथ समय बिताते हैं. 18 अक्टूबर 2019 को रोहित और क्रिककिंगडम ने मुंबई में क्रिकेट अकादमी लांच किया है. इसमें प्रशिक्षण और ट्रेकिंग के लिए इन-हाउस मोबाइल ऐप और क्रिककैटेलॉग के जरिए जमीनी स्तर पर क्रिकेट को बढ़ावा दिया जाएगा. इस अकादमी में लड़के और लड़कियों दोनों को प्रशिक्षित किया जाएगा. साथ ही महिला क्रिकेट को बढ़ावा देने के लिए 6 से 16 वर्ष की लड़कियों को हर हफ्ते की सेशन उपलब्ध कराया जाएगा.

रोहित ने अपने अंतर्राष्ट्रीय करियर में लगभग 32 टेस्ट क्रिकेट मुकाबले में 2141 रन, 224 वनडे मैच में 9115 रन और 104 T20 मैच में 2633 रन बनाए हैं.

दोस्तों मेरे आर्टिकल को ज्यादा से ज्यादा शेयर करें लाइक करें कमेंट करें और हमारे चैनल को फॉलो करना ना भूले जिससे हमारी हर न्यूज़ आप तक जरूर पहुंचे और दोस्तों अपनी राय कमेंट बॉक्स में जरूर लिखें, धन्यवाद

loading...

You may also like

हरभजन सिंह ने सुनाई यह खूबसूरत कविता- VIDEO
जोफ्रा आर्चर जिस चीज को खोजते-खोजते हो गए थे पागल, आखिरकार गेस्ट बेडरूम में मिली