पुणे के श्री शिव छत्रपति खेल परिसर कोर्ट पर प्रो कबड्डी लीग के मैच में पुणेरी पलटन और तमिल थलाइवाज़ ने ड्रा खेल कर सम्मान बांट लिया. दोनों टीमों का स्कोर 36-36 रहा. तमिल टीम को पिछले ग्यारह मैचों में एक भी जीत नहीं मिली है. प्रो कबड्डी लीग इतिहास में यह उनका सबसे ख़राब प्रदर्शन है. मेजबान पुणेरी की टीम पिछला मुकाबला पटना से हार गई थी और घरेलू दर्शक उससे और बेहतर प्रदर्शन की उम्मीद कर रहे थे लेकिन मेजबान टीम ऐसा नहीं कर पाई. मेजबान टीम के लिए मंजीत ने बेहतरीन प्रदर्शन किया और अपने करिअर का चौथा सुपर-टेन किया. उनका बख़ूबी साथ निभाया पंकज मोहिते ने, पंकज ने आठ रेड अंक बनाए. डिफ़ेंस में पुणेरी के लिए अमित कुमार ने तीन टैकल अंक लिए, उन्हें एक रेड प्वाइंट भी मिला. तमिल की ओर से राहुल चौधरी (चार अंक) एक बार फिर फ़्लॉप रहे जबकि अजीत कुमार ने लाजवाब प्रदर्शन करते हुए सुपर-टेन पूरा कर अठारह अंक बनाया.

पहले हाफ़ की शुरुआत में ही मेज़बान पुणेरी पलटन ने अपने इरादे जाहिर कर दिए थे. सातवें मिनट पर ही उसने तमिल को ऑलआउट कर बढ़त बना ली थी. पहले हाफ़ की राहुल चौधरी को पुणेरी के डिफ़ेंडरों ने पूरी तरह से शांत रखा और सिर्फ़ दो रेड अंक ही लेने दिए. इससे मेजबान टीम का काम आसान हुआ. पुणेरी के लिए मनजीत और पंकज मोहिते ने बेहतरीन प्रदर्शन किया जबकि तमिल ने हाफ़ टाइम तक नौ असफल टैकल किए जो उनके लिए अच्छा नहीं रहा. हालांकि शब्बीर बापू ने तमिल के लिए पहले हाफ़ में तीन टैकल अंक ले लिए थे. हाफ़ टाइम तक पुणेरी पलटन 18-12 से आगे थी.

दूसरे हाफ़ में तमिल थलाइवाज़ ने वापसी की. अजित कुमार ने सुपर टेन पूरा कर तमिल को मैच में बनाए रखा. पुणेरी के लिए अगर रेडिंग की ज़िम्मेदारी मनजीत और पंकज मोहिते की थी तो डिफ़ेंस में अमित कुमार काफ़ी अच्छा कर रहे थे. आख़िरी दस मिनटों में तमिल सात अंकों से पीछे थी. राहुल चौधरी का न चलना टीम के लिए परेशानी का सबब था. तब मंजीत ने अपना सुपर-टेन करते हुए तमिल को क़रीब क़रीब मैच से बाहर कर दिया था और लग रहा था कि पुणेरी आसानी से मैच जीत जाएगी लेकिन आख़िरी एक मिनट में छह अंकों की बढ़त को मेजबान टीम बरकरार नहीं रख पाई. टीम आलआउट हुई और जीत उसकी मुट्ठी से रेत की तरह फिसल गई. अंतिम समय में तमिल के लड़ाकों ने मैच को टाई कर अंक बांटा. प्रो कबड्डी लीग में इन दोनों के बीच यह लगातार दूसरा टाई मुक़ाबला रहा.

loading...

  • TAGS
loading...

You may also like


  T20 WC 2020: विश्व के इन 5 टीमों के पास है सदी के खतरनाक ऑलराउंडर, नंबर-1 है सबसे खतरनाक

  पता नहीं टेस्ट में कब दोहरा शतक बनाएंगे ये 5 दिग्गज बल्लेबाज, नंबर-1 और 4 है भारत की शान