कई बार वास्तु के हिसाब से घर बना होने पर भी आपको कई परेशानियों का सामना करना पड़ सकता हे यदि आपका घर वास्तु के अनुसार बना हुआ है फिर भी आपके जीवन में कोई न कोई परेशानी बानी रहती है तो आपको अपने किचन बनाते समय सिर्फ दिशा ही बल्कि अन्य बातो का भी ख्याल रखना चाहिए

ऐसे तो रसोईघर के लिए दक्षिण-पूर्व दिशा को सबसे अच्छा मन जाता है लेकिन पूर्व में या उत्तर -पश्चिम दिशा में रसोई का निर्माण कर सकते है

दक्षिण-पश्चिम दिशा में किचन अशुभ माना जाता है इस दिशा में किचन होने पर व्यक्ति अपने कौशल का इस्तेमाल नहीं कर पाता है

किचन में चूल्हा आग्नेय कोण में रखना चाहिए और खाना बनाने वाले का मुँह पूर्व दिशा में होना आवश्यक है

अगर घर के मुख्यद्वार के सामने आपका किचन है तो उसके द्वार पर पर्दा लगा होना चाहिए

पीने के पानी के लिए नल ईशान कोण में होना चाहिए सुबह उठते ही किचन में सफाई करे और नहाने के बाद ही किचन में भोजन बनाएं माँ अन्नपूर्णा की सदैव कृपा बनी रहेगी

अगर आपकी किचन में बेकार का सामान पड़ा हुआ है तो उसे बाहर निकल देना चाहिए क्योकि ये घर के सदस्यों की प्रगति में बाधा उत्पन करता है


You may also like

Pregnency Tips :  प्रेग्नेंसी के दौरान इन चीज़ो का बिलकुल भी नहीं करे सेवन,हो सकती है नुकसानदायक
Health  Benefits : गुणों की खान है सिंघाड़ा,खाने से होते है इतने अचूक फायदे