आजादी से पहले हमारा देश छोटी -छोटी रियासतों में बंटा हुआ था पटियाला राजघराना भी इन्हीं में से एक था महाराजा भूपिंदर सिंह देश के ऐसे पहले शख्स थे जिनके पास अपना प्राइवेट प्लेन था महाराजा भूपिंदर सिंह के पास 44 रोल्स रॉयस कार थी


महाराजा भूपिंदर सिंह पटियाला राजघराने के ऐसे राजा थे जिनको लेकर कई सारे किस्से मशहूर है वो भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान भी थे भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड को खड़ा करने में महाराजा ने काफी पैसे खर्च किए


दिवान जर्मनी दास ने अपनी किताब " महाराजा " में महाराजा भूपिंदर सिंह के बारे में विस्तार से लिखा है महाराजा भूपिंदर सिंह की 10 रानियां और 88 वैध संताने थी महाराजा के शानोशौकत के चर्चे दुनिभर में फैले थे साल 1935 में बर्लिन के दौरे पर उनकी मुलाकात हिटलर से हुई


महाराजा भूपिंदर सिंह के ठाठ के एक से बढ़कर एक उदाहरण है साल 1929 में महाराजा ने कीमती नग,हीरो और आभूषणों से भरा संदूक पेरिस के जोहरी को भेजा इस गोहरी को भेजे हरो में उस समय देश के सबसे महंगे आभूषणों में से एक है


पटियाला के महाराजा को क्रिकेट के काफी लगाव था BCCI के गठन के समय तो उन्होंने बड़ा आर्थिक योगदान तो दिया ही बाद में भी वो बोर्ड की हमेशा मदद करते रहे


You may also like

Health Tips : ठंड के चलते मांसपेशियों में होने वाले दर्द से  पाएं छुटकारा ,बस अपनाएं ये आसान उपाय
टेलीकॉम यूजर्स के लिए बुरी खबर ,नए साल में 20 % तक बढ़ सकती है टैरिफ प्लान की कीमत