इंटरनेट डेस्क : गुरु पूर्णिमा के शुभ दिन के साथ भारत में चंद्रग्रहण भी देखा जा सकेगा अनुमान है कि चंद्र ग्रहण करीब तीन घंटे तक 16 जुलाई को रहेगा। 16 जुलाई की रात करीब 1 बजकर 32 मिनट पर लगेगा और 4 बजकर 30 मिनट पर समाप्त होगा। चंद्र ग्रहण से पहले सूतक भी लगता है सूतक में ऐसा माना जाता है घर व भगवान के मंदिरों के कपाट बंद कर दिए जाते है शायद आपको पता हो जब भी ग्रहण पड़ता है तो कुछ ऐसे काम होते है जो ना ही किए जाएं तो ही ठीक होते है तो वही गर्भवती महिलाओं को गहण के दौरान विशेष सावधानी बरतनी जरुरी होती है ।

आइए जानें की ग्रहण गर्भवती महिलाओं पर कैसा असर डालता है ...

माना जाता है कि ग्रहण का असर सबसे ज्यादा गर्भवती महिलाओं पर होता है। क्योंकि ग्रहण के वक्त वातावरण में नकारात्मक ऊर्जा काफी ज्यादा होती जो गर्भवती महिला के पेट में पल रहे शिशु पर बुरा प्रभाव डाल सकती है

ज्योतिषशास्त्रियों के अनुसार ग्रहण के दौरान गर्भवती स्त्रियों को घर से बाहर नहीं निकलने देना चाहिए अगर कुछ जरुरी काम भी है तो गर्भ पर चंदन और तुलसी के पत्तों का लेप करके ही निकलना ठीक होगा इससे गर्भ मे पल रहे शिशु को किसी तरह का कोई नुकसान नही होगा।

सुबह की लार निगलने से दूर होती है सेहत से जुड़ी ये खास बीमा

Old Post Image

यह और भी बाते है जो ग्रहण के दौरान आपको ध्यान में रखनी जरुरी होती है...

ग्रहणकाल में प्रकृति में कई तरह की अशुद्ध और हानिकारक किरणों का प्रभाव डालती है ऐसे में कुछ ऐसे काम जो इस दौरान ना किए जाएं तो ही ठीक होगे।

ग्रहण के दौरान अन्न, जल जैसी चीजों का सेवन करना भी ठीक नही होता है।

Old Post Image

अगर ग्रहण पड़ रहा तो उसे कभी खुली आंखों से ना देखें इससे आपकी आंखों पर इसका बुरा असर हो सकता है ग्रहणकाल के दौरान गुरु प्रदत्त मंत्र का जाप करना भी अच्छा रहता है।

सालों से नही हो रहा बच्चा तो इस असरदार दूब का करें सेवन, ये बीमारियां भी होगी दूर

loading...

loading...

You may also like


  दूसरे टी-20 मैच में ऑस्ट्रेलिया ने पाकिस्तान को 7 विकेट से हराया, पढ़े मैच की पूरी रिपोर्ट

  लव राशिफल 27 सितंबर : जानें लव लाइफ की सटीक भविष्यवाणी