हिमालय की बर्फीली चोटियों में कई ऐसे देव स्तन छुपे है जिनकी धार्मिक मान्यताएं बहुत है ऐसा ही एक स्थान है हिमालचल में मौजूद किन्नर कैलाश पर्वत जो किन्नौर जिले में स्थित है पहाड़ की चोटी पर स्थित ये शिवलिंग बहुत ही खास है यह शिवलिंग समुद्र तल से 17200 फ़ीट की ऊंचाई पर स्थित है

ये खूबसूरत ट्रेक मई से अक्टूबर ही रहता है सर्दियों के महीने में यहां बर्फ बहुत ज्यादा होती है और लोग यहां आ नहीं पाते क्योकि ये ट्रेक मुश्किल है और इस इलाके में बारिश की काफी परेशनी होती है इसलिए यहां मिड मानसून में आने से को भी मना किया जाता है

ये एक पत्थर है जो शिवलिंग और त्रिशूल जैसा लगता है पहाड़ की चोटी पर ये बहुत अच्छी तरह से बैलेंस्ड है इसकी एक और खास बात ये है की शिवलिंग बार -बार रंग बदलता है इस शिवलिंग का रंग हर पहर में बदलता है

किन्नर कैलाश पर्वत से जुडी कई मान्यताएं है ऐसा माना जाता है की सीके पास स्थित कुंड देवी पार्वती ने खुद बनाया था ये पार्वती और शिव भगवान के मिलने का स्थान था कहते है की यहां सर्दिओ में सभी देवताओ का वास होता हजे यह ट्रेक बहुत मुश्किल है इसलिए लोगो को सलाह दी जाती है की वो पूरी तैयारी के साथ यहां आए और स्थानीय गाइड से मदद ले इस ट्रेक के लिए पहाड़ पर चढ़ते और उतरते दोनों समय खतरा होता है


You may also like

Health Care : सोडा पीने से होते है ये खतरनाक नुकसान,जानिये जरूर
Travil Trip : गुजरात का अपना एक समृद्ध इतिहास है इसकी झलक पाने के लिए इन जगहों पर घूमने जरूर जाएं