इंटरनेट डेस्क : बारिश का मौसम होता तो बेहद सुहाना है लेकिन हर तरफ पानी ही पानी भरा होने के कारण ये मौसम मे कई तरह की बीमारियों को भी बढ़ाता है बीमारी की चपेट में आने के कारण हम इस मौसम का जमकर मजा नही ले पाते है दरअसल बारिश में पानी हर तरफ पानी जमा रहने कारण मलेरिया जैसी बीमारी पनपने लगती है मलेरिया की चपेट में आने से व्यक्ति के शरीर में कई तरह के पोषक तत्वों की कमी होती है ऐसे में जरुरी है की आप इस मौसम में सेहत का सही रुप से ख्याल रखें और जल्द से जल्द इस बीमारी से खुद को रोगमुक्त करें।

मलेरिया बुखार मच्छरों से होने वाली बीमारी से होता है मच्छरों के काटने के बाद इंसान के खून में मलेरिया के परजीवी पहुंचते है. यह परजीवी किटनी में पहुंचने के बाद रेड ब्लड सेल्स को संक्रमित कर देते है जब यह खून तेज गाति से फैलने लगता है तो सेल्स टूटने लगती है और मरीज की हालत खराब होने लगती है ।

आइए जाने की आप इस बीमारी से खुद को बचाने के लिए डाइट में किन-किन चीजों को शामिल कर सकती है...

तरल पदार्थ वाली चीजों का सेवन इस मौसम में करना आपके लिए सबसे ज्यादा जरुरी होता है तरल पदार्थ जैसे नारियल पानी, फलों के जूस और नियमित अंतराल में पानी पीना आपके लिए बेहद लाभकारी होगा।

Old Post Image

हेल्दी फल और सब्जियों का सेवन करना भी आपके लिए बेहद लाभकारी होगा जब शरीर में मलेरिया का इंफेक्शन रहता है तो भूख नही लगती है ऐसे में बेहतर होगा की आप भरपूर फल और सब्जियों का सेवन करें संतरा, नींबू, पपीता, चुकंदर, गाजर और पालक जैसी चीजों को अपने खान-पान में शामिल करें।

सुबह की लार निगलने से दूर होती है सेहत से जुड़ी ये खास बीमारियां

Old Post Image

प्रोटीन और कार्बोहाइड्रेट्स जैसी चीजें भी सेहत के लिए बेहद फायदेमंद होती है ये चीजें शरीर से खराब टिशू को बाहर निकालने का काम करती है और प्रोटीन और कॉर्बोहाइड्रेट चीजों की जरुरी मात्रा को शरीर में पहुंचाने का काम करती है। प्रोटीन के लिए दाल, दूध, अंडे, मीट औ चिकन खा सकते हैं वही अगर

कार्बोहाइड्रेट की मात्रा शरीर में बढ़ाना चाहते है तो रोटी, चावल, स्प्राउट को अपने खान-पान में शामिल करें।

Old Post Image

तला भूना और फैट से जैसी चीजों को खाने से बचना चाहिए घी, तेल, मक्खन और क्रीम जैसे खाद्य पदार्थ को सेवन में शामिल करना आपके लिए लाभकारी होगा। पोषक तत्व विटामिन जैसी चीजों का सेवन करना भी आपके लिए लाभकारी होगा ओमेगा-3 फैटी एसिड से शरीर इस बीमारी में होने वाली जलन से आराम मिलता है ।

सावन महीने में मिलने वाले इस फल से सेहत को रखें दुरुस्त,

loading...

loading...

You may also like


  3 वर्ष बाद पहली बार एयरटेल और वोडाफोन के प्लान जियो से दमदार नजर आते है

  साढ़ेसाती का हुआ अंत, 6 नवंबर की सुबह होते ही इन 4 राशियों को मिलेगी बड़ी खुशखबरी