हमारे दिमाग में अक्सर ये सवाल आता है की किसी भी वाहन को चलाने के लिए पेट्रोल या डीजल की जरूरत क्यों होती है पानी के इस्तेमाल से वाहनों को क्यों नहीं चला सकते है किसी भी वाहन को चलाने के लिए निश्चित तोर पर ऊर्जा की आवश्यकता होती है आजतक ऐसा कोई वाहन नहीं बन पाया जो पानी से चल सके

पेट्रोल और डीज़ल दोनों पेट्रोलियम पदार्थ है पेट्रोलेम इर्धन का निर्माण हाइड्रोकार्बन से होता है हाइड्रोकार्बन अणुओं में अधिकतर कार्बन और हाइट्रोजन परमाणु होते है और इसमें कुछ अन्य तत्व जैसे ऑक्सीज़न भी मौजूद होती है

हजारों -लाखों साल पहले से ही हाइड्रोकार्बन के उपयोग से ऊर्जा तैयार हो रही है इंसान जब से आग का इस्तेमाल करना सीखा है उसी समय से हाइड्रोकार्बन के उपयोग से ऊर्जा पैदा किया जा रहा है और इंजन अपना काम इस तरह से करते है की अधिक से अधिक ऊर्जा का इस्तेमाल करते है

पानी की कोई रासायनिक प्रक्रिया नहीं है ऐसे में इसे ईधन की तरह नहीं जलाया जा सकता है लेकिन पानी जब गर्म भाप में बदलता है तो जरूर ऊर्जा पैदा करता है और पानी को गर्म करने के लिए भी कोयले या ईधन की जरूरत होती है

कई कंपनियों ने इस बात का दावा किया की उन्होंने पानी से चलने वाली गाड़ी तैयार की है लेकिन सभी के दावे एकदम फुस्स हो गए


You may also like

Health Tips :रोजाना खीरा खाने से होते है इतने फायदे,इतने गुणों से है भरपूर
wedding 2020 :  वेडिंग के लिए डिजाइनर आउटफिट खरीदने का है मन तो पहले इन बातों पर करें फोकस