कोरोना दिन पर दिन और खतरनाक होता जा रहा है, बीते 24 घंटे में राज्य में संक्रमण के 275 मामले सामने आए हैं। वहीं अब तक वायरस की वजह से 202 मरीजों की जान चुकी है। प्रदेश में अब तक संक्रमण के 7,445 मामले पाए जा चुके हैं। इसमें से 2,012 संक्रमित मरीज प्रवासी श्रमिक हैं जो अन्य राज्यों से वापस प्रदेश लौटे हैं। इसके अतिरिक्त प्रदेश में 4,410 मरीज ऐसे भी हैं जिन्होंने इस जानलेवा बीमारी को मात देते हुए हॉस्पिटल से डिस्चार्ज होकर घर जा चुके हैं।

आखिर कितने महीने की प्रेग्नेंट है हार्दिक की मंगेतर नताशा; जानिए

आपको बता दे राज्य में लगातार बढ़ते हुए संक्रमण के मामलों को देखते हुए, प्रदेश सरकार ने एल-1 के कोविड अस्पतालों की संख्या दोगुनी करने का फैसला किया है।

46 साल में पहली बार TWINKLE को मिला मां के हाथ का खाना !

प्रदेश में जिन जिलों में कोरोना के मरीज सामने ज्यादा आ रहे हैं उनमे यह हॉस्पिटल बनाएं जाएगें। अन्य राज्यों से आ रहे मजदूर कोरोना संक्रमित जिन जिलों में निकल रहे हैं। वहां हॉस्पिटल में अब बेड कम पड़ने लगे हैं। इसके लिए 20 जिलों लेविल-1 के 245 कोविड केयर सेंटरों में लक्षण वाले मरीजों के साथ ही क्वारंटाइन बेड भी बनाए गए हैं।

loading...

You may also like

असम: कोरोना से पहले झुका राज्य, 6 दिनों तक रहेगा तालाबंदी
आखिर क्यों मनाई जाती है नाग पंचमी, यह है ख़ास वजह