इंटरनेट डेस्क : सोमवार का दिन भगवान शिव को प्रसन्न करने का दिन होता है भगवान शिव की असीम कृपा पाने के लिए भक्त कई चीजों का अर्पण भगवान शिव के समक्ष करते है ताकि भोले बाबा की कृपा हर भक्त पर सदैव ही बनी रहे। सावन का पावन पर्व जल्द ही शुरु होने वाला है सावन महीने में भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए देवलाओं और शिवालयों में भक्तों की लंबी कतार लगी रहती है भारतीय शास्त्रों के अनुसार सावन का महीना भगवान शिव की भक्ति का होता है। मान्यता है की इस माह में भगवान शिव की उपासना की जाए तो वह अपने भक्तों की इच्छाओं को जरूर पूरा करते हैं। और अगर इन पूजा में बिल्व पत्र शिव के शिवलिंग पर चढ़ाया जाएं तो और भी लाभकारी होगा। हिंदू धर्म के शिवपुराण में इस बात का उल्लेख है कि भगवान शिव बेल पत्र सहित पूजन करने पर बहुत प्रसन्न होते हैं, लेकिन बिल्व पत्र चढ़ाने के पीछे आखिर यह विशेष कारण भी है जिसके बारे में शायद आपको पता ना हो।

हिंदू धर्म में इस वजह से एक स्त्री को नही फोड़ना चाहिए पूजा

Old Post Image

पौराणिक कथाओं के अनुसार भगवान शिव ने समुद्र मंथन से निकले हलाहल विष का सेवन किया था। अतः यदि कोई बिल्व पत्र के साथ भगवान शिव का पूजन करता है तो वह उनके मस्तक को ठंडक पहुंचाने जैसा ही काम होता है ऐसा करने से भगवान शिव जल्द से जल्द प्रसन्न होते है।

अगर आप भगवान शिव को बिल्व पत्र चढ़ा रहें तो इसे चढ़ाते समय इन विशेष बातों का ख्याल रखना भी आपको जरुरी है।

सावन के महीने में भगवान शिव को बिल्व पत्र चढ़ाते समय ऐसे बिल्व पत्र को बिल्कुल भी ना चढ़ाए जो कटे-फटे हुए हो ऐसे बिल्व पत्र को चढ़ाना अशुभ होता है यदि आप बेलपत्र चढ़ाते है तो उस समय जल भी चढ़ाए ऐसा करने से भगवान शिव जल्द से जल्द प्रसन्न होते है।

Old Post Image

अगर आप बिल्व पत्र को तोड़ रहें तो इन तिथियों को कभी भी बिल्व पत्र ना तोड़े पूर्णिमा, अमावस्या, संक्रांति, चतुर्दशी, सोमवार तथा अष्टमी को नहीं तोड़ना चाहिए। सावन माह में यदि आप प्रतिदिन बिल्व पत्र चढाते हैं और ये तिथियां जब भी पड़े उससे एक दिन पहले बिल्व पत्र तोड़कर रख लेवें और भगवान शिव को चढ़ाएं।

अगर किसी व्यक्ति के घर में बिल्व पत्र लगा होता है भगवान शिव की कृपा उस घर के सदस्यों पर बनीर रहती है। बेल वृक्ष को यदि आप उत्तर-पश्चिम दिशा में लगाते हैं तो आपको अपने जीवन में कीर्ति प्राप्त होगी और आपके घर में सदा सुख शांति बनी रहेगी।

इन 14 प्रकार के रुद्राक्ष में ये अलग-अलग शाक्तियां पहनने से पहले करें इन मंत्रों का जाप

loading...

You may also like

गर्मियों में बहने दें शरीर का पसीना, मिलेंगे सेहत को अनगिनत फायदे
मानसून सीजन में असरदार होता है ये तेल ,जानिए इसके लाभकारी फायदें