अंडा प्रोटीन का पावरहाउस माना जाता है इसलिए हर किसी को इसे डाइट में शामिल करने की सलाह दी जाती है वैसे अंडा देखने में बल ही एक छोटी से चीज लगे लेकिन वास्तव में इसे कई तरह से बनाया और खाया जाता है आज हम आपको बताएंगे की एग व्हाइट खाना चाहिए या एग यॉक या फिर दोनों को डाइट में शामिल करे

एक अंडे की बहरी परत को एग व्हाइट कहा जाता है जो लोग अधिक हेल्थ कॉन्शियस होते है वे अक्सर केवल अंडे का सफेद भाग कहते है और अंडे की जर्दी को छोड़ देते है ऐसा माना जाता है की जर्दी का सेवन करने से वजन बढ़ता है जबकि अंडे का सफेद हिस्सा वसा रहित होता है साथ ही इसमें कम कैलोरी होती है यह खराब कोलेस्ट्रॉल को दूर करता है

अंडे की जर्दी में कैलोरी की काफी अधिक मात्रा होती है अंडे की जर्दी में 55 कैलोरी तक होती है जबकि एग व्हाइट में मात्र 17 कैलोरी पाई जाती है इसके आलावा इनमे कोलेस्ट्रॉल स्तर उच्च होता है और आपके शरीर में कोलेस्ट्रॉल का उच्च स्तर होने से आपको दिल की बीमारियां होने का खतरा होता है इसलिए लोग इसे खाने से बचते है

अब सवाल यह उठता है की अंडे की जर्दी और एग व्हाइट में से क्या खाया जय और क्या छोड़ा जाए अंडे की जर्दी में अधिंकाश पोषक तत्व पाए जाते है इसलिए इसे पूरी तरह से छोड़ देना और डाइट से बाहर कर देना उचित है अगर आप दिल की बीमारियों से ग्रस्त है तो अंडे की जर्दी को छोड़ना और एग व्हाइट का सेवन करना अधिक बेस्ट ऑप्शन है


You may also like

Health Tips :- गठिया के दर्द से लेकर कई बीमारिया दूर करती है काली मिर्च, यहां जानिए इसके मजेदार फायदे
Health Tips :- पत्ता गोभी से शरीर में होते है ये गजब के फायदे