शरीर की बॉडी विकास के लिए और इसे स्वस्थ रखने के लिए प्रोटीन की काफी जरूरत होती है एनिमल प्रोटीन में मीट, अंडे ,फिश , चिकन और डेयरी प्रोडक्ट आते हैं वहीं प्लांट फूड में प्रोटीन में नट और अनाज आते हैं।

शरीर कोहर दिन इसकी जरूरत मात्रा शरीर के वजन के हिसाब से 0.8 ग्राम और बच्चों के लिए 1 पॉइंट 5 ग्राम और युवाओं के लिए 1 पॉइंट 0 ग्राम है कई एथलीट भी मांसपेशियों की मजबूती के लिए हाई प्रोटीन लेते हैं लेकिन कुछ वैज्ञानिकों का दावा है कि हाई प्रोटीन डाइट लेने से नुकसान भी हैं।

अधिक प्रोटीन लेने से मांसपेशियां अंगों और हड्डियों में प्रोटीन फैट के रूप में जमा हो जाता है और उस से मोटापा बढ़ने लगता है एक्सपर्ट्स की मानें तो कम कार्बोहाइड्रेट के साथ हाई प्रोटीन डाइट लेने से शरीर में फाइबर की कमी हो जाती है और इसकी वजह से कब्ज होने लगता है।

मीट ,फिश या फिर चिकन के जरिए बहुत ज्यादा प्रोटीन लेने से डायरिया भी हो सकता है और लिक्विड के रूप में बहुत ज्यादा प्रोटीन लेने से बार बार बाथरूम जाना पड़ता है जिससे डिहाइड्रेशन और बार-बार प्यास महसूस हो सकती है अधिक प्रोटीन किडनी और दिल को भी नुकसान पहुंचा सकता है इसलिए प्रोटीन का चुनाव अपने शरीर के हिसाब से ही करे।


You may also like

दशहरा के दिन ये उपाय करने से आपकी जिंदगी कई समस्याऍ हो जाएगी खत्म
आखिर पूजा पाठ में अगरबत्ती और धुप क्यों जलाया जाता है ,इसका भगवान से क्या रिश्ता है ?