देश भर में आज प्रधानमंत्री मोदी की चर्चा होती है क्योकि अपने 6 साल के कार्यकाल में उन्होंने भारत की तस्वीर बदल दी , लेकिन उनकी निजी जीवन की बात करे तो , जशोदाबेन पिछले 50 से अधिक वर्षों से मोदी से अलग रह रही हैं। नरेंद्र मोदी और जशोदा बेन की शादी 1968 में हुई थी, लेकिन देश सेवा और संघ प्रचार के लिए नरेंद्र मोदी ने उनसे अलग होने का फैसला लिया। उसके बाद से अब तक वो अपने पत्नी से नहीं मिले।

जशोदाबेन पूरे देश में पहली बार तब सुर्खियों में आईं जब नरेन्द्र मोदी ने नामांकन पत्र भरते समय जशोदाबेन का नाम पत्नी के रूप में लिखा था। प्राथमिक विद्यालय से रिटायर्ड शिक्षक जशोदाबेन ने अपने जीवन को पूरी तरह से बदल दिया है। 5 पुलिसकर्मी हमेशा उनकी निजी सुरक्षा में तैनात रहते हैं।

जशोदाबेन के अनुसार, वह सप्ताह में 4 दिन पीएम मोदी के लिए उपवास करती हैं। इसके अलावा, उनकी एक इच्छा है कि मोदी उन्हें केवल एक बार फोन करें लेकिन पहल मोदी को ही करनी होगी। मोदी ने उन्होंने से शादी की लेकिन अपनी पत्नी के साथ कभी नहीं रहे। मोदी ने शादी अपने परिवार वालों के खातिर मजबूरी में की थी । उन्होंने 17 साल की उम्र में अपना घर छोड़ दिया।

loading...

You may also like

जो लोग जीवन में निराश हैं, उन्हें यह वीडियो एक बार अवश्य देखना चाहिए
चीन का झिंजियांग क्षेत्र 6.4 तीव्रता के भूकंप से कांप उठा