इंटरनेट डेस्क : 21 जून को अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस मनाया जाना है जिसकी तैयारियां हर तरफ जोरों-शोरों से शुरु हो गई है अक्सर ज्यादा काम-काज कर लेने और एक ही जगह पर बैठे रहने से बैली फैट जैसी दिक्कत देखने को मिलती है बैली फैट दिखें तो हमारा लुक भद्दा सा नजर आता है जिसे दूर करने के लिए हम कई तरह की एक्साइज कोकिया करते है लेकिन बैली फैट को कम करने का आसान योग यह भी है जिसे आप करेगी तो आपका बैली फैट आसानी से कम होगा हम बात कर रहे चक्रासन योग की जो आपकी बॉडी को सुडौल बनाने में कारगार है।

गर्मी में महिलाओं के अंडरवियर का पसीना भी पैदा कर सकता है शरीर में बैक्टरिया, हो जाएं सावधान

Old Post Image

हम बात कर रहे है चक्रासन योग की चक्रासन योग शरीर की आकृति पर आधारित होता है। जिससे स्पाइन से लेकर पेट तक में खिंचाव आता है। इससे पेट की चर्बी कम होती है और मोटापा भी दूर होता है। इस तरह के योग हर आयु वर्ग का व्यक्ति कर सकता है अस्थमा और हाई बीपी के मरीजों को इस योग को करना बेहद आसान काम होता है।

आइए जानें इस योग को कैसे किया जाएं...

आप सबसे पहले पीठ के बल लेट जाएं। घुटने मोड़ें तथा एड़ियों को नितंबों से स्पर्श कराते हुए पैरों को 10 -12 इंच की दूरी पर रखें। बांह उठाएं और कोहनियां मोड़ लेंवे हथेलियों को कंधों के ऊपर सिर के निकट जमीन पर रख लेंवे। सांस लें तथा धीरे-धीरे धड़ को उठाते हुए पीठ को मोड़ें। धीरे से सिर को लटकता छोड़ देंवे एवं बांहों तथा पांवों को यथासंभव तान लेंवे। धीरे धीरे सांस लेंवे और धीरे धीरे सांस छोड़े। जब तक संभव हो सके ऐसी मुद्रा को बनाएं रखें उसके बाद शरीर को इस तरह नीचे करते हुए आरंभिक अवस्था में लौटें कि सिर जमीन पर ही टिका रहे और शरीर के शेष भाग को नीचे लाएं तथा आराम देंवे ।

इस योग को करने के सेहत को ये अनगिनत फायदें मिलते है...

Old Post Image

आप चार से पांच चक्र करें। इस आसन को करने से मोटापा काफी हद तक कम होगा वात, पित्त और कफ ठीक रहेगा चेहरे की चमक बढ़ेगी और आपकी कमर में भी लचीलापन आएगा। वह कमर दर्द जैसी दिक्कत भी दूर होगी आपके घुटनों को मजबूती मिलेगी वह पैरों के टखने भी मजबूत होंगे।

थर्माकोल में रखी खाने-पीने की चीजों को खाने से हो सकती है

loading...

You may also like

 सिर में बेहद फायदेमंद होता है ये तेल जिसकी मालिश से दूर होता है तनाव
इन सब बातों का रखेगे ख्याल तो घर को नही लगेगी किसी की बुरी नजर