हिन्दू ग्रंथों और पुराणों में हर चीज से जुड़ी कई बातें बताई गई है। शास्त्रों में शारीरिक संबंध से जुडी कई बातों का भी खुलासा किया गया है। धर्म ग्रंथों में 7 ऐसी जगह बताई गई है, जहाँ पर मनुष्य को भूल कर भी संबंध नहीं बनाने चाहिए। अगर मनुष्य ऐसा करता है तो वो पाप का भागी होता है। यह जानकारी ब्रह्मवैवर्त पुराण , स्कन्द पुराण , प्रश्नोपनिषद, पदम् पुराण और कूर्म पुराण आदि में दी गई है।

अग्नि के पास – अग्नि को हिन्दू धर्म में देवता माना गया है। इसलिए अग्नि के आस पास संबंध नहीं बनाने चाहिए। ये महापाप है।

दूसरे के घर में – दोस्त हो या कोई रिश्तेदार के घर में संबंध बनाना गलत है। इस से आपके और आपके साथी के बीच दूरियां आ सकती है।

नदी के पास – किसी पवित्र नदी के पास शारीरिक संबंध नहीं बनाना चाहिए। इस से पति पत्नी के बीच कलह होने की संभावना बढ़ जाती है।

बीमार व्यक्ति के आस-पास – एक ही छत के नीचे, यानी घर में कोई व्यक्ति बीमार और गंभीर अवस्था में हो तो भी शारीरिक संबंध नहीं बनाने चाहिए।

मंदिर परिसर में – शास्त्रों के अनुसार मंदिर परिसर में यह काम वर्जित होता है। ऐसा करना महापाप माना जाता है।

ब्राह्मण पास हो – अगर आसपास कोई ब्राह्मण, ऋषि-मुनि या फिर महान पुरुष हो तो उसके आस पास संबंध नहीं बनाने चाहिए। इसे महापाप कहा जाता है।

कब्र के पास – ऐसी जगह जहां कोई कब्र हो, वहां संबंध बनाना महापाप है। नेगेटिव एनर्जी पति पत्नी के रिश्ते को पूरी तरह खत्म कर सकती है।

जहां कोई गुलाम हो – ऐसी जगह जहां फिलहाल कोई गुलाम हो या पहले कभी रहा हो, वहां पर जीवनसाथी से शारीरिक निकटता की मनाही है। ये जगहें पवित्र रिश्तें के लिए सही नहीं मानी जाती।

loading...

loading...

You may also like

14 अक्टूबर से 20 अक्टूबर तक साप्ताहिक भविष्यफल : जानिए क्या कहते है आपके तारे

  दीपावली धमाका: एयरटेल और वोडाफोन को जवाब देने के लिए जियो ने पेश किया तूफानी ऑफर