जब टाटा मोटर्स ने नैनो कार को साल 2008 में लॉन्च किया था। तब कंपनी को यह उम्मीद थी कि यह कार भारतीय मोटर वाहन उद्योग का चेहरा पूरी तरह से बदल देगी। क्योंकि यह कार बेहद सस्ती थी और कोई भी आम आदमी इस कार को आसानी से खरीद सकता था। लेकिन कंपनी की उम्मीदों पर यह कार खरी नहीं उतर पाई।

अब आलम यह है कि साल 2019 में टाटा नैनो कार को सिर्फ एक व्यक्ति ने खरीदा है। तो दोस्तों इस पोस्ट में आज हम आपको ये बताने वाले ही आखिर क्यों यह कार भारत में इतनी बुरी तरह फेल हो गई। टाटा मोटर्स ने नैनो कार की मार्केटिंग दुनिया की सबसे सस्ती कार को कहकर की थी। किसी भी व्यक्ति के लिए यह कार उसके मिडिल क्लास होने का सबूत बन जाती थी।

जिसकी वजह से ग्राहक इस कार से दूरी बनाने लगे। कंपनी इस कार को अगले साल तक बंद करने वाली है। क्योंकि अगले साल भारत में बीएस 6 लागू होने वाला है। और कम बिक्री की वजह से टाटा मोटर्स इस कार के इंजन को अपग्रेड करने के मूड में बिल्कुल भी नही है। टाटा नैनो मुख्य रूप से मारुति सुजुकी आल्टो 800 कार को टक्कर देने के लिए बनाई गई थी।

लेकिन आज जहाँ मारुति आल्टो 800 भारत की सबसे ज्यादा बिकने वाली कार है। वही टाटा नैनो भारत में बुरी तरह फेल हो गई है। तो दोस्तों कमेंट के माध्यम से आप हमें बताएं की यह खबर आपको कैसी लगी और ऐसे ही ऑटो अपडेट के लिए हमारे चैनल को फॉलो करना न भूलें।

Source- zigwheels.com

loading...

  • TAGS
loading...

You may also like


  चारो दिशाओं से आएगा पैसा अग्निदेव चमकाएंगे इन 5 राशियों का नसीब, कहीं आपकी राशि तो नही

  Galaxy S10 खरीदने का सपना जल्‍द होगा पूरा, Samsung लॉन्‍च कर रही है इसका सस्‍ता वर्जन