बॉलीवुड इंडस्ट्री के महानायक अमिताभ बच्चन की फिल्म जगत में जो छवि और रुतबा है उसका श्रेय उनके बेहतरीन एक्टिंग दमदार आवाज और शानदार व्यक्तित्व के अलावा उनकी फिल्मों की सफलता को भी माना जाता है। कई फिल्मों की कहानियों की शुरूआत उनके किरदार के बचपन के संघर्षों से होती थी।

ऐसे में उनके बचपन की भूमिका भी काफी जुझारू और प्रभावशाली होती थी। और यही वजह है कि अधिकतर फिल्मों में अमिताभ बच्चन के बचपन का किरदार निभाने वाले बाल कलाकार मास्टर रवि भी उन दिनों सभी की आंखों का तारा बन गए थे। वैसे तो आज भी लोगों के जेहन में उनकी छवि जूनियर अमिताभ बच्चन के रूप में बनी हुई है।

मास्टर रवि फिल्म लाइन को छोड़कर काफी आगे निकल चुके हैं। दरअसल 1976 में फिल्म फकीरा से डेब्यू करने वाले रवि को 1977 में आए फिल्म अमर अकबर एंथनी से काफी पहचान मिली थी। रवि ने अमर अकबर एंथनी और दर्जनों फिल्मों में अमिताभ बच्चन के बचपन का रोल किया है।

इसके अलावा रवि ने अब तक अलग-अलग भाषाओं की लगभग 300 से ज्यादा फिल्में की है। इस तरह से बॉलीवुड फिल्म इंडस्ट्री में शायद ही कोई दूसरा बाल कलाकार हो जिसे मास्टर रवि जितना फिल्मों में काम और नाम मिला हो। रवि एक समय में सबसे अधिक कमाई करने वाले बाल कलाकार थे।

लेकिन इतना नाम कमाने के बावजूद रवि ने फिल्मों में अपना करियर नहीं बनाया। बल्कि बड़े होकर रवि ने अपना नाम और काम दोनों ही बदल दिया दरअसल बाद में रवि ने अपना नाम मास्टर रवि से बदलकर रवि वलेचा रख लिया। उन्होंने फिल्म लाइन छोड़कर रवि ने नेशनल इंस्टिट्यूट अहमदाबाद से एमबीए की पढ़ाई पूरी की। और फिर यहां से डिग्री लेने के बाद उन्होंने हॉस्पिटैलिटी इंडस्ट्री में अपना कारोबार शुरू किया।

आज उनकी कंपनी का कारोबार करोड़ों का है और वे टॉप प्राइवेट सेक्टर बैंकों को अपनी हॉस्पिटल की सेवाएं दे रहे हैं। आज वह भारत के मशहूर कारोबारी के रूप में जाने जाते हैं।

दोस्तों, ये पोस्ट आपको कैसी लगी ये आप हमे कमेंट करके जरुर बताएं. पोस्ट अच्छी लगे तो लाइक, कमेंट और हमें फॉलो जरुर करना.+ Follow / फॉलो करें UC We-Media Account "SP News World" को, और पायें फ़िल्मी, राजनीति, रोचक, खेल, क्राइम, टेक तथा बिज़नेस से संबंधित General Knowledge (सामान्य ज्ञान) की सटीक जानकारी. साथ ही आर्टिकल्स को Comment, Like और Share करना न भूलें.

loading...

  • TAGS

You may also like

निया शर्मा का ग्लैमर लुक हुआ वायरल, यहां देखे खूबसूरत फोटोज
विश्व युवा कौशल दिवस 2020: उद्देश्य 2030 तक युवाओं को कुशल बनाना है