बॉलीवुड की मशहूर कोरियोग्राफर सरोज खान अब इस दुनिया में नहीं हैं। उसने दुनिया को अलविदा कह दिया है। सरोज खान ने शुक्रवार को मुंबई के अस्पताल में अंतिम सांस ली। जैसा कि आप जानते हैं, सांस फूलने की शिकायत के बाद 20 जून को उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया था और उसके बाद शुक्रवार सुबह उसे मलाड के कब्रिस्तान में सुपुर्द-ए-खाक किया गया। सरोज खान को विदाई देने के लिए उनके परिवार के सदस्य और कुछ रिश्तेदार शामिल हुए थे। जी हां, इस बार कोरोनोवायरस कहर ढा रहा है, और इस बीच, सरोज खान को बिना किसी देरी के सुबह सौंप दिया गया।

आपको यह भी बता दें कि पुलिस ने सरोज खान के परिवार को आदेश दिया था कि, '50 से अधिक लोग अंतिम विदाई में शामिल नहीं होंगे'। इतना ही नहीं, सरोज खान के परिवार के करीबी सूत्रों ने कहा था कि 'सरोज खान डायबिटिक भी थीं'। इतना ही नहीं, बल्कि सरोज खान के निधन के बाद से इंडस्ट्री में भी शोक की लहर है। अस्पताल के सूत्रों का कहना है कि सरोज खान की मौत का कोरोनावायरस से कोई लेना-देना नहीं था और उनका कोरोना टेस्ट भी नकारात्मक आया था।



सरोज खान के करियर की बात करें तो उन्होंने एक से बढ़कर एक फिल्मी गीतों को कोरियोग्राफ किया। जिसे आज भी आप सुनेंगे। इसके अलावा, सरोज खान ने तीन बार राष्ट्रीय पुरस्कार जीता था और वह कोरियोग्राफी में सर्वोच्च पुरस्कार प्राप्त करने वाली थीं।

loading...

You may also like

बॉलीवुड को एक और झटका, मशहूर कोरियोग्राफर सरोज खान का निधन, तीन बार मिल चूका राष्ट्रीय पुरस्कार
टीवी की इन हसीनाओ ने साउथ की फिल्मों में दिखाया दम