नमस्कार मित्रों आज आपका फिर से एक बार स्वागत है एक नए लेख में, दोस्तों भारत एक ऐसा देश है, जहां पर अनेक शक्तिशाली और वीर योद्धाओं ने जन्म लिया था। कुछ योद्धाओं को उनके वीरता के लिए जाना जाता है, तो कुछ योद्धाओं को उनके क्रूरता भरे कार्य के लिए जाना जाता है। आज हम आप लोगों को भारत में राज करने वाले एक ऐसे ही शक्तिशाली और खतरनाक राजा के बारे में बताने जा रहे हैं, जिसने राज गद्दी पाने के लिए अपने 99 भाइयों को मौत के घाट उतार दिया था।

दोस्तों हम जिस योद्धा के बारे में बात कर रहे हैं वह कोई और नहीं बल्कि भारत का महान योद्धा सम्राट अशोक था। सम्राट अशोक के बारे में तो आप लोगों ने जरूर सुना होगा। सम्राट अशोक भारत के एक शक्तिशाली राजा माने जाते थे। सम्राट अशोक प्रारंभिक काल में बहुत ही ज्यादा क्रूर इंसान थे। सम्राट अशोक ने सिर्फ हथियार प्राप्त करने के लिए कलिंग पर आक्रमण कर दिया था, जहां पर उन्होंने डेढ़ लाख लोगों को मौत के घाट उतार दिया था। इस नरसंहार को देखकर अशोक का मन विचलित हो गया और उन्होंने बौद्ध धर्म को अपना लिया।

कहा जाता है कि जब सम्राट अशोक ने बौद्ध धर्म को अपनाया तब से उनका मन बदल गया और वे सामाजिक कार्य करने लगे, उन्होंने समाज सेवा के ऐसे कार्य किए जो इतिहास में आज तक कोई भी राजा नहीं कर पाया। सम्राट अशोक ने अपने शासनकाल में कई बड़े-बड़े सामाजिक कार्य किए थे, जिसके कारण जनता उनसे काफी ज्यादा खुश रहा करती थी। बता दे सम्राट अशोक ने अपने शासनकाल में 20 से भी ज्यादा विश्वविद्यालयों की स्थापना करवाई थी। सम्राट अशोक के इस प्रकार के कार्य को देखकर उनके दरबारी और पड़ोस के राजा उन्हें एक पागल राजा कहते थे। लेकिन आज सम्राट अशोक को पूरी दुनिया जानती है, जबकि उनके दरबारी और उनके पड़ोसी राज्य के राजाओं को कोई नहीं जानता है।

दोस्तों अगर आप लोगों को हमारे द्वारा दी जानकारी अच्छी लगी, तो इसे अपने चाहने वालों के साथ शेयर करें।

Source : Amar Ujala


  • TAGS

You may also like

    'लज्जा शंकर पांडे' को देख जब कांप गई थी रूह ऐसे मिला आशुतोष राणा को 'संघर्ष 'के विलेन का किरदार
BOLLYWOOD : पायल घोष निभाएंगी मधुबाला का किरदार , जानिए क्या होगा फिल्म का नाम