नमस्कार मित्रों आज आपका फिर से एक बार स्वागत है एक नए लेख में, दोस्तों वैसे देखा जाए तो दुनिया में बहुत सारे शक्तिशाली और खतरनाक योद्धाओं ने जन्म लिया था, जिनमें से कुछ योद्धाओं को उनके क्रूरता भरे कार्य के लिए जाना जाता है। आज हम आप लोगों को एक ऐसे शक्तिशाली योद्धा के बारे में बताने जा रहे है, जिसे सिकंदर ने मरने से पहले याद किया था। दोस्तों जब सिकंदर पूरी दुनिया को जीतने का सपना लेकर निकला था तब वह भारत के राजा पोरस से जितने के बाद उसका सपना टूट गया।

कहा जाता है कि जब महान सिकंदर की मृत्यु हुई, तब सिकंदर ने राजा पोरस को याद किया था। दोस्तों राजा पोरस भारत की एक शक्तिशाली और पराक्रमी राजा माने जाते थे। बात उस समय की है, जब एक बार सिकंदर और राजा पोरस के बीच एक बहुत बड़ा और खतरनाक सुधा लड़ा गया था, जिसमें राजा पोरस की हार हो चुकी थी, उसके बाद राजा पोरस को सिकंदर के सामने पेश किया गया तब सिकंदर ने राजा पोरस से कहा कि तुम्हारे साथ कैसा व्यवहार किया जाए।

उसके बाद राजा पोरस बिना डरे सिकंदर से कहता है कि एक शासक दूसरे शासक के साथ जैसा व्यवहार करता है, वैसा ही व्यवहार मेरे साथ भी किया जाना चाहिए। राजा पोरस के इस आत्मविश्वास और स्वाभिमान को देखकर सिकंदर बहुत प्रसन्ना हो गया और उसने राजा पोरस से मित्रता कर ली। उसके बाद सिकंदर राजा पोरस से पुनः अपने राज्य लौटने की अनुमति मांगी।

कहा जाता है कि जब सिकंदर राजा पोरस के साथ मित्रता करने के बाद अपने राज्य वापस जा रहा था, तब रास्ते में सिकंदर की एक बीमारी के कारण मृत्यु हो गई थी। कुछ इतिहासकारों का मानना है कि सिकंदर ने मरने से पहले अपने सबसे परम मित्र राजा पोरस को याद किया था।

दोस्तों अगर आप लोगों को हमारे द्वारा दी जानकारी अच्छी लगी, तो इसे अपने चाहने वालों के साथ शेयर करें।

Source : Amar Ujala

loading...

  • TAGS

You may also like

लॉकडाउन में टी सीरीज की हनुमान चालीसा ने बनाया रिकॉर्ड, भावुक हुए भूषण कुमार
दक्षिण और बॉलीवुड अभिनेत्री भाग्यश्री जल्द ही इस फिल्म में दिखाई देंगी