कल्चरल डेस्क:हमारी हिंदू संस्कृति में हर त्यौहारों का अपना एक अलग ही महत्व है ऐसा ही कुछ वैशाख मास में मनाई जानें वाली अक्षया तृतीया को लेकर भी है अक्षय तृतीया शुक्‍ल पक्ष की तृतीय तिथि को मनाई जाती है। इस दिन को लेकर खास बात है की इस दिन हर तरह के शुभ कामों को किया जाता है। इस दिन किए गए कार्य का फल बेहद ही शुभकारी होता है। इस दिन दान पुण्य का भी एक विशेष महत्व है। पुराणों में बताया गया है कि यह बहुत ही पुण्यदायी तिथि है इसलिए इस दिन किए गए दान पुण्य के बारे में मान्यता है कि जो कुछ भी पुण्यकार्य इस दिन किए जाते हैं उसका फल जन्मों तक मिलता है।

तो चलिए जानते है इस दिन के खास महत्व के बारें में....

दरअसल अक्षय तृतीया को लेकर एक खास वजह यह भी है कि भगवान विष्‍णु के छठें अवतार माने जाने वाले भगवान परशुराम का जन्‍म इस दिन हुआ था।  परशुराम ने महर्षि जमदाग्नि और माता रेनुकादेवी के घर जन्‍म लिया था। बस इसी वजह से अक्षया तृतीया के दिन भगवान विष्णु की उपासना की जाती है।

इस दिन को लेकर एक विशेष महत्व यह भी है कि इस दिन मां गंगा स्वर्ग से धरती पर अवतरीत हुई थीं। राजा भागीरथ ने गंगा को धरती पर अवतरित कराने के लिए हजारों वर्ष तक तप कर उन्हें धरती पर लाए थे। इस गंगा में डूबकी लगाने से हर तरह के पापों से मुक्ति मिलती है।

अन्नधान की देवी अन्नापूर्णा के जन्मदिन को भी इसी दिन के रुप में मनाया जाता है। और गरीबों को खाना भी इसी दिन खिलाया जाता है। इस दिन को लेकर मंदिरों मे कई तरह के भजन और कीर्तन किए जाते है और भंडारों के खाने अन्नपूर्णा का पूजन करने से खाने का स्वाद भी बढ़ जाता है। अक्षय तृतीया के दिन श्रीमद्भागवत गीता के 18 वें अध्‍याय का पाठ करना भी बेहद शुभकारी माना गया है।

अगर बंगाली संस्कृति को लेकर बात करें तो इस दिन भगवान गणेशजी और माता लक्ष्मीजी का पूजन कर व्यापारी अपने कार्य की शुरुआत करते है

धार्मिक साहित्य के अनुसार  भगवान शंकरजी ने इसी दिन भगवान कुबेर माता लक्ष्मी की पूजा अर्चना करने की सलाह दी थी। जिसके बाद से अक्षय तृतीया के दिन माता लक्ष्मी की पूजा की जाती है और यह परंपरा आज तक चली आ रही है।

SWAG LOOK में एयरपोर्ट पर स्पॉट हुई करिश्मा बेटी समायरा भी दिखी साथ, सामनें आई ये खूबसूरत तस्वीरें

जाहन्वी और सारा से भी हॉट है बॉलीवुड़ की ये स्टार डॉटर,करवाया इतना खूबसूरत फोटोंशूट

विश्व सुंदरी ने पहना इस मशहूर फैशन डिजाइनर का खूबसूरत लहंगा

किसी खास फंक्शन के लिए अपनाए Ankita के ये स्टाइलिश अंदाज

You may also like

शिव चालीस पढऩे से लड़कियों को मिलता है अच्छा वर, दूर होगी ये प्रॉब्लम
जानें क्या महत्व रखता है भारतीय संस्कृति में गुरुपूर्णिमा का पर्व