इंटरनेट डेस्क : 8 मार्च को आज अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस बड़ी ही धूम-धाम से मनाया जा रहा है यह महिलाओं के सम्मान का खास दिन है समाज निर्माण के आज हर क्षेत्र में महिलाए आगे है और कई ख्याति को अपने नाम कर चुकी है लेकिन क्या आपने कभी ये जानने की कोशिश की है की आखिर 8 मार्च को ही क्यों मनाया जाता महिला दिवस ।

बेहद शुभ माना गया है इस रंग का स्वास्तिक ,घर के द्वार पर आज ही बनाए नही लगेगी बुरी नजर

Old Post Image

आपको शायद पता हो पहला महिला दिवस 28 फरवरी 1909 में अमेरिका में मनाया गया था। अमेरिका में कपड़े की फैक्ट्री में काम कर रही महिलाओं ने 1908 में हड़ताल की थी इस हड़ताल के खत्म होने के बाद महिलाओं के हौसले के सम्मान में साल 1909 में महिला दिवस मनाया गया। आधिकारिक तौर पर 8 मार्च, 1975 को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस की घोषणा संयुक्त राष्ट्र ने की थी ।

तो वही रुस जैसे देश ने साल 1917 में महिला दिवस मनाया था । रूस की महिलाओं ने 28 फरवरी को महिला दिवस मनाकर प्रथम विश्व युद्ध का विरोध कर एक शानदार काम किया है उन्होने रोटी कपड़ों की हड़ताल कर दी । इसी हड़ताल के बाद महिलाओं की स्थिति में परिवर्तन आया और उन्होने वोट डालने का अधिकार भी मिला।

Old Post Image

इस खास दिन पर महिलाओं के सम्मान में विशेष तरह के कार्यक्रम आयोजित किए जाते है इन कार्यक्रमों में महिलाओं को कई बेहतरीन पुरस्कारों से नवाजा जाता है। वो महिलाएं ही है जो घर और बाहर की जिम्मेदारियों को निभाते हुए आज समाज के हर क्षेत्र में अपनी एक अलग पहचान बना चुकी है।

घर मे टूटे-फूटे बर्तनों में भोजन करना होता है जीवन के लिए नुकसानदायक

loading...

You may also like

इस प्रिंट के आउटफिट को पहनना होता है शुभ जो जीवन में लाते है सुख समृध्दि
जानिए भगवान महावीर के अनमोल वचन जो जीवन में देते है ये सुखद संदेश