इंटरनेट डेस्क : जब भी किसी खास मौको की बात आती है तो हम हमारे चहितों को एक ऐसा उपहार देने की सोचते है जो उनके जीवन में हमेशा याद के तौर पर रहे जैसी की बेटी की शादी माता पिता की और से बेटी को सोने के आभूषण दिए जाते है जैसे सोने का हार, कड़े झुमकें टीका इत्यादि। ऐसे में ससुराल पक्ष की और से भी नववधुओं को सोने की कुछ चीजें दी जाती है। जो उनके जीवन में यादों के तौर पर सजी रहती है। ऐसे में हमारे कई रिलेटिव कई तरह के उपहारों को भी देते है लेकिन इस मूल्यवान चीज की कोई एक खास व्यक्ति ही दें पाता है। भारत में अधिकतर लोगों के लिए सोना सबसे महत्वपूर्ण और प्रमुख उपहार है यह चमकीला पीला धातु न केवल मूल्यवान उपहार, बल्कि अत्यंत पावन भी माना गया है जिसे हम किसी तरह के खास मौकों पर या उत्सवों पर खरीदतें है।

जैसे खास त्यौहार जैसे धनतेरस, दशहरा, ओणम, पोंगल और दुर्गा पूजा इत्यादि इसी अवधि के दौरान कारोबारी भी अच्छा बिजनैस करते है।

इस सोने को देने की यह खास वजह यह भी है ....

दरअसल सगाई समारोह के दौरान दुल्हा दुल्हन को सोने की अंगूठी पहनाई जाती है दरअसल यह वैवाहिक अंगूठियाँ टिकाऊ सम्बन्ध का आश्वासन देती है यह स्त्रियों के लिए न भूलने वाला तथ्य है, जो अलग-अलग तरह के आभूषणों से श्रृंगार करना पसंद करतीं हैं सोने पहनना प्रचलन आज के दौर में भी शामिल है।

सोना प्रतिष्ठा और धन का प्रतीक भी गया है सोने के आभूषणों को एक पीढ़ी से अगली पीढी तक हस्‍तान्‍तरणीय वस्तु के रूप में भी देखा गया है उपहार के रूप में इसका मूल्य और भी अधिक होता है, क्योंकि यह मांगलिक धातु भावी पीढ़ियों के लिए भी सहायक होता है जिसका महत्व आज भी हमारी खास परम्पराओं में छाया हुआ है।

You may also like

इस तरह पूजा में काम आने वाला नारियल बनाता है बिगड़े काम को भी सही
सूर्यदेव को जल चढ़ाते समय जरूर रखें इन बातों का ध्यान