इंटरनेट डेस्क। हमारे देश में राजाओं महाराजाओं के जीचन जीने का तरीका ही सबसे अलग ही हुआ करता था। जिनमे से लगभग सभी राजा महाराजा एक से ज्यादा शादियाँ करते थे और कई कई रानियाँ रखते थे, ऐसे ही एक राजा थे राजा भूपेन्द्र सिंह, जिनकी एक-दो नही बल्कि 365 रानियाँ थी, आज हम आपको इन्ही से जुड़ी एक रोचक कहानी बताने जा रहे हैं।


भूपेन्द्र सिंह पटियाला के राजा थे, जिन्होंने लगभग 38 सालों तक शासन किया था, महाराजा भूपिंदर सिंह ने पटियाला में लीला भवन या रंगरलियों का महल बनवाया था जहां केवल निर्वस्त्र लोगों को एंट्री मिलती थी यह महल पटियाला शहर में भूपेन्दरनगर जाने वाली सड़क पर बाहरदरी बाग़ के करीब बना हआ है इस महल का जिक्र उनके दीवान ने महाराजा में किया है इतिहासकारों के मुताबिक महाराजा की 10 अधिकृत रानियों के समेत कुल 365 रानियां थीं इन रानियों की सुख सुविधा का महाराज पूरा ख्याल रखते थे महाराजा की रानियों के किस्से तो इतिहास में दफन हो चुके हैं।


उस जमाने में रात में रोशनी के लिए लालटेन का इस्तेमाल किया जाता था, तो राजा साहब हर रानी के लिए अलग अलग नाम वाली लालटेन जलवाते थे, और रात भर जलने के छोड़ देते थे, सुबह जिस रानी के नाम वाली लालटेन पहले बुझ जाती थी, राजा उसी रानी के साथ अगली रात बिताते थे। आपको भी ये कहानी और राजा भूपेंद्र सिंह का ये तरीका थोड़ा अजीब लग रहा होगा, लेकिन इसी तरह से फैसला लेकर राजा भूपेंद्र अपनी रात किसी रानी के साथ व्यतीत करते थे।

जैकलीन फर्नांडिस इस लड़के के साथ बीच पर मस्ती करती नजर आई, जानिए कौन था वो...

घायल हुआ बंदर का बच्चा तो अस्पताल लेकर पहुंची बंदरिया, नजारा देख लोग रह गए हैरान !

जानिए, महात्मा गाँधी को गोली क्यों मारी थी नाथूराम गोडसे ने...

loading...

loading...

You may also like

गणेश चतुर्थी  पर भगवान गणेश की प्रतिमा स्थापित करने के साथ इस वजह से बोला जाता है मोरया
राम और सीता से एक ही पुत्र का जन्म हुआ था, फिर उनके दो पुत्र लव और कुश कैसे हुए