इंटरनेट डेस्क : हमारे हिंदू धर्म में हर पर्व का अपना एक अलग ही महत्व है ऐसा ही कुछ चैत्र नवरात्रि के पर्व को लेकर भी है चैत्र नवरात्रि का पर्व चैत्र के महीने में मनाया जाता है हर भक्त माता की अराधना इन नवरात्रों में पूरें श्रध्दाभाव से करता है ताकि मां की कृपा भक्त पर हमेशा बनी रहें। चैत्र नवरात्र भी बिल्कुल शारदीय नवरात्रों की ही तरह पूरें धूमधाम से देशभर में मनाया जाता है ।

लेकिन क्या आपको पता है की इस खास वजह से मनाया जाता है चैत्र नवरात्र...

Old Post Image

हिन्दू धर्म में नवरात्रों को पूरें धूमधाम से मनाया जाता है हिन्दु कैलेण्डर का ये पहला दिवस है लोग साल के पहले दिन से नौंवे दिन तक पूरी श्रद्धा से चैत्र नवरात्रि मनाते है। इसके पीछें यह कारण है शायद आपको यह पता ना हो की चैत्र नवरात्रों को वसंत नवरात्रि के नाम से भी जाना जाता है। ऐसा माना जाता है कि शारदीय नवरात्रों की पूजा जहां भगवान राम ने आरंभ की थी वहीं चैत्र नवरात्रि‍ का अंतिम दिन भगवान राम के जन्‍मदिवस के रूप में भी मनाया जाता है। उत्‍तर भारत में चैत्र नवरात्रि‍ धूमधाम से मनाया जाता है जबकि महाराष्‍ट्र में गुड़ी पड़वा से चैत्र नवरात्रि‍ की शुरूआत होती है आन्ध्र प्रदेश और कर्नाटक में उगादी से चैत्र नवरात्रि‍ की शुरूआत होती है।

घर में अगर है शिवलिंग तो पूजा में बरते ये सावधानी

Old Post Image

चैत्र नवरात्र में पूरें नौ दिनों मां भवानी की पूजा होती है ऐसा माना जाता है कि देवी दुर्गा ने महिषासुर का वध किया, महिषासुर को कठोर तपस्‍या करके देवताओं से अजय होने का वरदान मिला। लेकिन उसने अपनी इन शक्तियों का उपयोग गलत तरीकों से किया । जिसका दंड मां दुर्गा महिषासुर का वध करके दिया। शक्तिशाली दुर्गा मां का महिषासुर से नौ दिन तक संग्राम छिड़ा और आखिरी नौवे दिन महिषासुर का वध हुआ । नवरात्र में नौ दिनों तक देवियों की पूजा होती है । और आखिरी नवरात्र वह अष्टमी के दिन मां छोटी-छोटी स्वरुप पूजा जाता है।

चैत्र नवरात्रि पर्व से पहले जानें मां की अराधना में किस तरह के दीपक जलाना होता है शुभ

loading...

You may also like

जानिए शनि जयंती पर शनि देव की विशेष पूजा का महत्व, इन उपायों को करने से शनिदेव करते है हर कष्ट दूर
जानिए निर्जला एकादशी पर पूजा-पाठ की सही विधि यह उपाय करने भी है लाभकारी