इंटरनेट डेस्क: हर महिला चाहती है की उनकी शादीशुदा लाइफ और परिवार की खुशिया हर समय बनी रही । हर महिला की यह ख्वाहिश होती है की जो वह चाहती हैं वैसे उन्हे मिले। इसके लिए वह जतन भी करती नजर आती है। पर ऐसा हर जगह संभव हो ऐसा नहीं हो पाता है। महिलाओं की ये भी कामना रहती है की अष्टलक्ष्मी हमेशा उनके घर में वास करें। जिसे उन्हे किसी भी तरह की कोई परेशानी न हो। इसी वजह से आज के समय में हर महिला अपनी घर.गृहस्थी में सेविंग को बहुत ज्याद अहमियत देती है, लेकिन हर बार पैसा बचे यह सम्भव नहीं है। कई बार ऐसी स्थिति भी सामने आती है जब आर्थिक स्थिति बेहद कमजोर हो जाती है। दो वक्त की रोटी चलाने में भी मुश्किल होने लगती है। इसलिए आज हम आपको एक ऐसा उपाय बताएंगे जिसे यदि कोई पत्नि अपने पति से छुपाकर केवल मंगलवार के दिन करें तो उनके लिए तो शुभ होगा ही साथ घर की खुशहाली के लिए भी शुभ रहेगा।

Old Post Image


घर की महिलाएं मंगलवार की सुबह जब जमीन पर अपना पहला पैर रखे तो कल्पना करे अष्टलक्ष्मी और हनुमान जी उसके साथ है। शुद्ध होकर पीपल के पेड़ पर जल अर्पित करना चाहिए। पीपल के 3 साबूत पत्ते तोडक़र घर के मंदिर में हनुमान जी के सामने रखें। फिर हर पत्ते के ऊपर एक.एक सिक्का और चावल का एक.एक दाना रखें। इसी के साथ उसमे कुमकुम, हल्दी और अबीर से पूजन करते रहे और गुलाब की सुगंध वाली 5 अगरबत्ती लगा लें। हनुमान जी की आरती करके वहां रखी सारी सामग्री को वहीं हनुमान जी के पास रहने दें।

Old Post Image


शाम के समय पुन: आप हनुमानजी के सामने दीपक लगाएं और आरती करें और उसके बाद पत्तों के ऊपर रखें चावल के तीनों दानों को उठाकर चुपके से पति के पर्स में रखें। पर इस बात का ध्यान रखें मंगलवार को पति से इस बारे में कोई बात न करें और न ही उन्हें इस संबंध में कुछ भी पता लगने दें। ऐसे में आप चाहे तो बुधवार की सुबह उन्हें मंगलवार को किए गए पूजन के बारे में बता सकती हैं और उन्हें कहे कि वह हमेशा तीन चावल के दाने अपने पर्स में रखकर रखें।

Old Post Image

You may also like

धनतेरस स्पेशल:- सोना-चांदी के बर्तन नहीं बल्कि इस दिवाली इन चीजों को खरीद कर बने अमीर! 
देव उठनी एकादशी 2018- इस तरह करें सभी देवताओं को इस पूजा विधि से खुश!