इंटरनेट डेस्क: हर लडक़ी का सपना होता है उसकी जिंदगी में एक ऐसा पार्टनर आए जिसके साथ वह जिंदगी बिता सके और अपने बच्चे की मां बन सके। यह सुख सबसे बड़ा सुख भी माना जाता है। पर कुछ महिलाएं आज भी इससे वंचित रह जाती है। जिससे परेशान होकर कुछ भी करने के लिए तैयार हो जाती है। भारत में भगवान के प्रति अटूट आस्था भक्तों में होती है, मां बनना और न बनना इसके पीछे भी तर्क दिया जाता है कि ये भगवान की मर्जी है। पर कुछ ऐसी जगह होती है, जहां जाने पर जिस तरह पापों का अंत होता है, उसी तरह एक ऐसा कुंड भी है जहां ऐसा माना जाता है कि इस कुंड में स्नान करने से निसंतान को संतान की प्राप्ति होने लगती है।

Old Post Image

इस कुंड को लेकर ऐसा माना जाता है कि भगवान कृष्ण ने वरदान दिया था और इस वजह से इस कुंड की इतनी ज्यादा मान्यता है कि यहां स्नान करने के लिए हजारों मीलों का सफर तय कर विवाहित लोगों को संतान प्राप्ति की इच्छा लेकर आते हैं। जिस जगह की हम बात कर रहे है वह है भगवान कृष्ण की नगरी मथुरा में जहां स्थित राधा कुंड में स्नान करने से निसंतान को भी संतान की प्राप्ति होती है और ये मान्यता आज से नहीं बल्कि हजारों सालों से चली आ रही है। यहां माना जाता है कि अगर कोई नि:संतान दंपति एक साथ अहोई अष्टमी यानि कार्तिक कृष्ण पक्ष की अष्टमी की मध्य रात्रि इस कुंड में नहाते है। इससे जल्द ही उसके घर में बच्चे की किलकारियां गूंजने लगेगी।

Old Post Image

इस जगह को लेकर मान्यता है कि जिन लोगों को संतान प्राप्ति का सुख नहीं है, उन्हे इस राधाकुंड में स्नान करना चाहिए। यहां ये भी मान्यता है कि उनके अनुसार यहां स्नान करने वाली महिलाएं अपने केश खोलकर माता राधा से संतान का वरदान मांगती हैं और उन्हें ये वरदान मिलता भी है।

Old Post Image

You may also like

सावन के पवित्र माह में इस वजह से सुहागन महिला पहना करती है हरा रंग, जानें ये खास वजह
सावन माह में किए गए ये उपाय दूर करें जीवन की तमाम परेशानियां