इंटरनेट डेस्क : सावन का सुहावना मौसम चल रहा है और इस मौसम में बारिश की फुहारों के साथ चारों तरफ हरियाली का मौसम देखने को मिलता है प्रकृति के इस खूबसूरत श्रृंगार देखते हुए सुहागन महिलाओं के जीवन में हरा रंग विशेष महत्व रखता है जहां हरे रंग के कपड़ों को पहनने का विशेष महत्व है तो वही अगर सावन के इस खूबसूरत मौसम में सुहागन महिलाओं को हरी चूड़ियों को पहनने का भी महत्व है।

आइए जानें की सावन के खूबसूरत मौसम में हरे रंग की चूड़ियां क्यों पहननी चाहिए...

हमारे हिंदू धर्म में मान्यता है की हरा रंग प्रकृति का होता है और इस मौसम में हरें रंग की चूडियां तथा कपड़े पहनकर हम प्रकृति का आभार व्यक्त करते है माना जाता है हरें रंग का सीधा कनेक्शन किस्मत से भी होता है।

सावन महीनें में भोले बाबा की कृपा पानें के लिए रखें इन विशेष बातों का ख्याल

Old Post Image

हरा सुहगन महिलाओं के जीवन में विशेष महत्व रखता है यह सुहागन महिलाओं के सौभाग्य का प्रतीक माना गया है। हरें रंग की चूड़ियां पहनने से आपके वैवाहिक जीवन में हमेशा खुशहाली बनी रहती है और आपको भगवान शिव का आशीष मिलता है और आपकी पति की आयु भी बढ़ती है।

तो वही करियर और व्यापार में भी सफलता दिलाता है हरा रंग ज्योतिष के अनुसार कुंडली में बुद्ध ग्रह मानव के व्यवसाय तथा करियर से जुड़ा है बुध्द ग्रह का रंग हरा होता है इस रंग की चूडियों या कपड़ों को पहनना काफी शुभ होता है जिससे आपको अपने कामों में सफलता मिलती है।

Old Post Image

सावन का महीना भगवान शिव को प्रसन्न करने का दिन है। भगवान शिव हमेशा प्रकृति के करीब रहें हैं इसलिए उनको हरा रंग बहुत प्रिय है। सावन के माह में चारों और हरियाली देखने को मिलती है ऐसे में मान्यता है की अगर हरे रंग को धारण किया जाएं तो भगवान शिव की कृपा आप बनी रहती है और आपका सौभाग्य भी बढ़ता है।

राजस्थानी संस्कृति की महिलाएं सावन के इस खुशनुमा मौसम में इस वजह से पहना करती है लहरिया

loading...

You may also like

हमारे हिंदू धर्म में विशेष महत्व रहती है भादवा की चौथ ,जानिए इस चौथ की पौराणिक कथा
जीवन की हर समस्या से रहना चाहते है दूर ,तो रोजाना करें पीपल पेड़ की पूजा