इंटरनेट डेस्क : हमारे हिंदू धर्म में कई दिनों का विशेष महत्व है ऐसा ही कुछ जल्द ही आने वाली निर्जला एकादशी को लेकर भी है जो जेष्ठ मास में विशेष महत्व रखती है इस बार एकदशी का शुभ दिन 13 जून को है एकादशी पर भगवान विष्णु और उनके अवतारों की विशेष पूजा अर्चना की जाती है श्रीकृष्ण के बाल स्वरूप लड्डू गोपाल की पूजा भी इस तिथि पर विशेष रूप से की जाती है ।

अगर आप अपने घर में बाल गोपाल की छोटी सी मूर्ति रख रखी है तो इस विशेष दिन इनकी पूजा इस तरह से करें ताकि आपको अपने जीवन में लाभ होगा...

जब भी आप इस दिन भगवान बाल गोपाल को भोग लगाते है तो भोग लगाते समय तुलसी के पत्तों के जरुर रखें भगवान का भोग तुलसी के पत्तों के बिना अधूरा होता है।

हाथों को बिल्कुल साफ सुथरें तरीके से धोकर भगवान बाल गोपाल को हाथों से जल अर्पित करें । पूजा में फूलों वाले सुगंधित पानी का उपयोग करें ऐसा करना बेहद लाभकारी होगा।

भगवान बाल गोपाल की मूर्ति को आसन पर बिठाएं आसन का रंग चमकीला होना चाहिए । जैसे लाल, पीला, नारंगी।

पूजा घर में ना रखें भगवान की ऐसी तस्वीरे वरना जीवन में हो सकता है अनर्थ

Old Post Image

आप जिस बर्तन में भगवान श्रीकृष्ण के पैर धोते है उसे पाघ कहा जाता है पूजा से पहले पाद्य में स्वच्छ जल और फूलों की पंखुड़ियां डालें और उस पानी से भगवान के चरणों को धोएं ऐसा करना बेहद शुभ होगा।

एकदशी के दिन दूध, दही, घी, शहद और चीनी को एक साथ मिलाकर पंचामृत बनाएं और तुलसी के पत्ते डालकर भोग लगाएं ऐसा करना बेहद अच्छा होगा।

Old Post Image

भगवान बाल गोपाल को जो भोग लगाया जाता है उसमे ताजे फल , मिठाइयां, लड्डू, मिश्री, खीर, तुलसी के पत्ते और फल शामिल करें और फिर भगवान के समक्ष अर्पित करें।

बाल गोपाल की पूजा में गाय के दूध से बने घी का उपयोग करना काफी उत्तम है। इन सभी विशेष बातों का ख्याल आप इस एकादशी पर भगवान बाल –गोपाल की पूजा में रखें।

इस खास वजह से लगाया जाता मांगलिक कामों में कुंकुम का तिलक


loading...

You may also like

इस्लाम धर्म में हरे रंग को क्यों माना जाता है इतना पवित्र जानें ये खास वजह
बुधवार के दिन इन विधि-विधानों से करें पूजा भगवान गणेश होगे जल्द प्रसन्न