इंटरनेट डेस्क : एक सुहागन महिला के जीवन में उसका मंगलसूत्र बेहद अहम महत्व रखता है मंगलसूत्र उसके सुहाग का प्रतीक माना गया है इसलिए हमारें हिंदू धर्म में बिना मंगलसूत्र के शादी अधूरी मानी जाती है एक स्त्री को शादी के समय उसका होने वाला पति मंगलसूत्र पहनाया करता है मंगलसूत्र महिलाओं के 16 श्रृंगार में सबसे अहम चीज है । मंगलसूत्र धारण करने का नियम परंपरागत तौर पर सदियों से चला आ रहा है। मंगलसूत्र सिर्फ गहना मात्र नहीं है, इसके कुछ और लाभ भी हैं।

आइए जानें धार्मिक महत्व के साथ मंगलसूत्र सेहत में भी फायदा करता है...

पूजा घर में ना रखें भगवान की ऐसी तस्वीरे वरना जीवन में हो सकता है अनर्थ

Old Post Image

हमारे हिंदू धर्म में परंपराओं के अनुसार शादी के बाद महिलाओं को बहुत सी श्रृंगार वाली सामग्री दी जाती है उसके गहनों को पहनने का अहम महत्व होता है मंगलसूत्र उन्ही में से एक होता है मंगलसूत्र धागे में पिरोए काले मोती और सोने के पेंडेंट से बना होता है। जो आपके सुहाग के अंखड सौभाग्य का प्रतीक है । पति की मृत्यु के बाद ही एक स्त्री गले से मंगलसूत्र उतारती है । एक स्त्री के मंगलसूत्र का खोना या टूटना अशुभ होता है । मंगलसूत्र आपके सुहाग को बुरी नजर से बचाता है।

अब इसके वैज्ञानिक महत्व को जानें तो मंगलसूत्र सोने या चांदी का बना होता है दोनों ही धातुएं महिलाओं के हृदय और वक्ष को स्वस्थ रखती हैं। यही नहीं इन धातुओं की वजह से महिलाओं के शरीर का रक्तचाप भी संतुलित बना रहता है इसमें लगें सोने के पेडेंट का भी विशेष महत्व है सोना तेज और ऊर्जा का प्रतीक है। इसीलिए सोने के बनें पेडेंट को पहनने से महिला के शरीर को उर्जा भी मिलती है

Old Post Image

मंगलसूत्र में लगा सोने का पेंडेंट लगातार महिला के शरीर के संपर्क में रहें तो इससे महिला की सेहत को काफी लाभ होता है । मंगलसूत्र काले मोतियों से होकर निकलने वाली वायु रोगों से लड़ने के लिए प्रतिरोध तंत्र को भी मजबूती प्रदान करता है मंगलसूत्र पहनने से महिलाओं के शरीर में सकारात्मक उर्जी प्रवेश करती है जिससे आपका शरीर हमेशा उर्जावान बना रहता है।

महिलाओं के श्रृंगार की ये खूबसूरत चीज रखती है उनके जीवन में अहम महत्व

loading...

You may also like

 गणेश चतुर्थी पर जानिए भगवान गणेश के स्वरुप से जुड़ी विशेष जानकारियां
पूजा-पाठ  में विशेष महत्व रखता है हिंदू धर्म में कलश रखना