इंटरनेट डेस्क : हमारी भारतीय संस्कृति की एक खास परम्परा का पालन महिलाएं सदियों से करती हुई आ रही है वो सिर ढकने की परम्परा घर की महिलाएं अक्सर बड़े बुजुर्ग के सम्मान में सिर ढका करती है तो कुछ विशेष धार्मिक स्थानों पर सिर ढकना अनिवार्य होता है कुछ लोग इसे धार्मिक सम्मान की दृष्टि से देखते है तो कुछ लोग इसका आकलन वैज्ञानिक दृष्टि से भी करते है ।

आइए जानें महिलाओं के सिर ढकने की खास वजहों के बारे में जिससे आप अनजान है...

इस वजह से लगाई जाती है मंदिरों में घंटी जिसकी धुन डालती है जीवन मे सकारात्मक प्रभाव

Old Post Image

सिर ढकने की खास परम्परा को लेकर मान्यता है की जिन्‍हें आप जिन्हे श्रेष्‍ठ और आदरणीय मानते हैं उनके सामने सिर को खुला नहीं रखना महिलाएं उनके सम्मान और आदर के लिए सिर ढका करती है लाइफस्टाइल बदल रहा ऐसे में जहां शहरी निवास महिलाए इस परम्परा को कम निभाती है तो वही ग्रामीण महिलाएं आज भी समाज मे इस परम्परा का पालन करती है।

अगर वैज्ञानिक दृष्टिकोण की बात करें तो माना जाता है कि आकाशीय विद्युतीय तरंगे खुले सिर वाले व्यक्तियों के भीतर प्रवेश कर क्रोध, सिर दर्द, आंखों में कमजोरी आदि के कई प्रकार के रोग को उत्पन्न करती है अगर सिर ढका रहता है तो हम कई तरह के रोगों से बचे रहते है

Old Post Image

सिर ढकने से महिलाए नकारात्मक उर्जा से खुद को बचाए रख सकती है। सिर ढकने से नकारात्मक उर्जा एकदम से सिर मे प्रवेश नही कर पाती है। कहा जाता है कि सिर के मध्‍य में एक चक्र होता है जब आप सिर को ढ़ककर पूजा करते हैं तो यह चक्र सक्रिय होता है। जो आपके ध्यान को केद्रित करता है। बस इस वजह से महिलाओं को सिर ढकने के फायदें भी है जिससे आप अनजान है।

इन श्रृंगार वाली चीजों से शादी के दिन बेहद खूबसूरत नजर आती है बंगाली दुल्हन

loading...

You may also like

आपके घर में आने वाला हर संकट दूर करती है ये शुभ तुलसी ये कुछ और भी है विशेष बातें
पूजा में कभी ना करें खंडित दीएं का इस्तेमाल ,जानिए पूजा में दीया जलाने के सही नियम