इंटरनेट डेस्क : वैशाख का पावन महीना चल रहा है और इस पानव महीने में बुध्द पूर्णिमा का एक अलग ही महत्व है 18 मई को वैशाख महीने में बुध्द पूर्णिमा का शुभ दिन है जिसको लेकर विशेष तरह की पूजा पाठ करने का रिवाज है इस दिन एक बड़ा शुभ संयोग बन रहा है। कहा जाता है भगवान विष्णु के अवतार बुध्द की पूजा की जाएं तो विशेष पूजा करने का विधान है।

बुध्द पूर्णिमा के दिन स्वामी देव गुरु बृहस्पति और नवग्रहों के राजा सूर्य एक दूसरे के आमने सामने रहेंगे। इस वजह से सूर्य और गुरु का समसप्तक राजयोग बनेगा। भक्तों के लिए ये बहुत ही शुभ दिन है। जिसको लेकर भगवान विष्णु की पूजा से आपको मनवाछिंत इच्छा की प्राप्ति होगी।

इस दिन ये शुभ संयोग बन रहे जिससे आपको इन कामों में सफलता मिलेगी...

ये दिन भूमि, मकान, वाहन खरीदने के लिए शुभ है। ये बुद्ध पूर्णिमा पदभार संभालने और नए व्यापार की शुरुआत करने के लिए उत्तम है जो आपके जीवन के लिए लाभकारी है।

इन दो दिन ही हाथों से कलावा खोलना होता है शुभ


Old Post Image

बुध्द पूर्णिमा के दिन अगर आप चंद्रमा और भगवान विष्णु और माता लक्ष्मी की पूजा करते है आपके जीवन के लिए मंगलकारी होगा शास्त्रों के अनुसार सुख समृध्दि और आपके जीवन के वैभव में इजाफा होगा

अगर आप बुध्द पूर्णिमा के दिन इस उपाय को करेंगे तो आपको बेहद लाभ होगा...

Old Post Image

जैसा की आपको पता है की चंद्रमा शीतलता का प्रतीक है। बुद्ध पूर्णिमा के दिन दूध और शहद का उपाय करने से व्यक्ति का समाज में मान सम्मान बढ़ेगगा आप सुबह जल्द ही स्नान करें इसके बाद माता लक्ष्मी और विष्णु भगवान की पूजा करें। दिनभर मन ही मन 'ऊं सोम सोमाय नम:' मंत्र का जाप करें। पूर्णिमा की रात कच्चा दूध लेंवे और उसमें शुद्ध शहद और चंदन मिलाकर उसमें अपनी छवि देखें और फिर उसका अर्घ्य चंद्रमा को देवे ऐसा करना बेहद उत्तम होगा जो आपके जीवन के लिए बेहद लाभकारी है।

जानिए महिलाओं के सिर ढकने की इस खास परम्परा के बारें में...

loading...

You may also like

गुरुवार के दिन इन कामों को करने से बढ़ता है दुर्भाग्य
जानिए जीवन में कौनसे शुभ संकेत देती है हरी दौब