कल्चरल न्यूज:- माना जाता है कि सावन के महीने में सोमवार को हर लडक़ी उपवास करती है। सावन के सोमवार में भगवान शिवजी की पूजा करना काफी अच्छा माना जाता है। यह माना जाता है कि भगवान भोलेनाथ का आशीर्वाद हमेशा हर व्यक्ति पर बना रहता है जो इस दिन का व्रत करते है। ऐसा कहा जाता है कि व्यक्ति का हर दर्द दूर हो जाता है और सभी इच्छाएं पूरी हो जाती है। सावन के महीने में कई युवा लड़कियां उपवास रखती हैं क्योंकि इसे करने से उन्हें सच्चे और प्रेमपूर्ण साथी की प्राप्ती होती है।


एक व्यक्ति जो सोमवार को सावन महीने में व्रत करता है, उसे हमेशा ब्रह्मा माहूर (सुबह की सुबह) में उठना चाहिए और स्नान करना चाहिए, कुछ काले तिल के बीज पानी में डाल दें और उस पानी से स्नान करें। ऐसा करके ब्रह्मा महूरत के प्रस्थान के बाद स्नान करना अच्छा नहीं है; उपवास का पूरा प्रभाव प्राप्त नहीं होता है और जो व्यक्ति उपवास कर रहा है उसे इसका लाभ नहीं मिलेगा।

गंगाजल को भगवान शिव के अभिषेक के लिए शुभ माना जाता है, लेकिन सावन के सोमवार को गंगाजल के अलावा, यह माना जाता है कि घी, दूध और दही के साथ अभिषेक बेहतर होता है। पूजा के दौरान, यदि भगवान शिव को गंगाजल में काले तिल को मिलाकर अभिषेक किया जाता है, तो सभी सुख पूर्ण होते हैं और अच्छे जीवन साथी की इच्छा प्राप्त होती है।


भगवान शिव की पूजा करने के लिए, गंगाजल में दही और तिल के बीज जोडऩे के बाद उन्हें दूध दें। उसके बाद 'ओम नम: शिवाय' मंत्र पढ़ते हैं और भगवान शिव की मूर्ति पर फूल, चंदन, चावल, पंचमृत और सुपरी पेश करते हैं। पूजा के दौरान, महामृत्यंजय जाप किया जाना चाहिए।

भगवान शिव और माता पार्वती की पूजा के दौरान, आपको मंत्रों का जप करना बंद नहीं करना चाहिए। अभिषेक और पूजन के दौरान, महामृत्यंजय जाप को लगातार चालू किया जाना चाहिए। यह दिमाग में खुशी लाता है और सभी प्रकार के दुखों से राहत देता है। भगवान शिव और पार्वती की पूजा करने के बाद सोमवार की उपवास की उपवास कहानी को पढऩा चाहिए। सावन की तेज कहानी पढऩे के बाद, सबसे पहले, छोटे बच्चों को प्रसाद और फिर बुजुर्गों को प्रदान करें।

इस तरह जब भी आप भगवान शिव की पूजा करते है तो आपको भगवान शिव का आर्शिवाद मिलेगा जिससे आपको भगवान शिव के सुख और उनके आर्शिवाद की प्राप्ती होगी।

You may also like

क्या आप भी करते है शाम के समय पैसों को लेकर ये काम, तो जरूर पढ़े ये खबर
सोमवार के शुभ दिन ना पहने इस रंग का वस्त्र होगा अशुभ