इंटरनेट डेस्क : हमारे हिंदू धर्म में जब एक लड़का और लड़की का विवाह पक्का किया जाता है तो उससे पहले सगाई की रस्म होती है जो इस संस्कृति में एक विशेष महत्व रखती है उसे करने के बाद ही लड़का और लड़की के रिश्तें को पक्का माना जाता है आजकल लड़का की सगाई का खास ट्रेंड अलग-अलग तरह से किया जाता है इसमें लड़का और लड़की एक-दूसरे के बाएं हाथ की तीसरी उंगली में अंगूठी पहनाते हैं। सदियों से लड़का और लड़की इसी हाथ की अंगुली में अंगूठी को पहना करते है

अगर ज्योतिषशास्त्र की बात करें तो इस हाथ में अंगूठी पहनने के पीछें की खास वजह है जिससे आप अनजान है...

जानिए आखिर चैत्र नवरात्र में क्यों मनाया जाता है गुड़ी पड़वा का पर्व

Old Post Image

ज्‍योतिष शास्‍त्र में अनामिका का संबंध जीवन के क्षेत्रों जैसे प्रसि‍द्धि, उतेजना, दिखावा और संबधों से माना जाता है जो विवाह से जुड़ा होता है।

हिंदू धर्म के ज्‍योतिष के अनुसार हर अंगुली का भाग्य को लेकर विशेष महत्व होता है अनामिका अंगुली का संबध भी भाग्य से ही होता है । ज्योतिष के अनुसार, अनामिका ग्रह सूर्य से जुड़ा है। सूर्य को राजा के रुप में जाना जाता है सूर्य सफलता और शक्ति का ग्रह है। यदि आप एक अनोखी, अद्भूत और आलौकिक ऊर्जा का अहसास पाना चाहते हैं तो अनामिका अंगुली में अंगूठी पहन सकते हैं। यह आपको हर प्रकार से मजबूती प्रदान करता है। जो आपके होने वाले जीवन साथी के लिए भी बेहद लाभदायी होती है।

भारत के इन फेमस मंदिरों में है पुरुषों का जाना है वर्जित, सिर्फ महिलाओं के जानें से ही होती है मनोकामना पूरी

loading...

You may also like

सावन के महीने में शिवलिंग के पास दीपक जलाना होता है शुभ
सोमवार के दिन भगवान शिव के शिवलिंग पर चढ़ा रहें बेलपत्र, तो रखें इन बातों का ख्याल