इंटरनेट डेस्क:हमारी हिंदू संस्कृति में कई पर्वों का अपना एक अलग ही महत्व है ऐसा ही कुछ आज ही के दिन मनाए जानें वाले अक्षया तृतीया के पर्व को लेकर भी है अक्षया तृतीया के दिन किसी भी शुभ काम की शुरुआत करना बेहद लाभकारी माना गया है। यह दिन लक्ष्मी पूजन का विशेष दिन है। इस दिन किए दान-पुण्य का भी विशेष महत्व है इस दिन दान पुण्य करने से विशेष फल की प्राप्ति आपको होती है। और तमाम दुख दर्दों का निवारण भी होता है। इस दिन को लेकर एक ऐसी धार्मिक मान्यता भी है कि इस तिथि को सतयुग और त्रेतायुग का आरंभ माना गया है और इस दिन श्री बद्रीनाथ धाम के पट भी खुलें मिलते है। नर-नारायण, हयग्रीव और परशुरामजी का जन्म भी इसी दिन हुआ था। ऐसे में इस दिन विशेष पूजा पाठ और दानों का भी विशेष महत्व माना गया है।

तो चलिए जानते है कि इस दिन किस तरह के दान आपको करने लाभकारी होगे...

अगर इस दिन शिवलिंग पर गन्ने का रस चढ़ाना और किसी गरीब को गन्ने का रस पिलाना चाहिए काफी शुभकारी माना गया है यह बहुत बड़ा दान है।

इस दिन किसी भी शुभ को करने के लिए आपको मुर्हुत निकालने की जरुरत नही होगी हर अच्छे काम की शुरुआत आप कर सकते है।

गर्मी के दिनों में आने वाले इस पर्व के दिन खाने-पीने की ऐसी चीजों का दान करना चाहिए, जिनसे गर्मी से उनको राहत मिले जैसे ठंडा पानी, दही, लस्सी, गन्ने का रस, अन्य फलों का रस, तरबूज आदि।

सूत्री वस्त्रों का दान भी बेहद शुभकारी माना गया है।

दान में आप जौ, गेहूं, चने, दही, चावल, खिचड़ी, दूध से बने हुए ठंडे पदार्थ का दान करना लाभकारी होगा।

पवित्र नदी गंगा में स्नान करने से सारे पाप धुल जाते है। इसलिए यह दिन हिंदू संस्कृति का पवित्र दिन माना गया है।

SWAG LOOK में एयरपोर्ट पर स्पॉट हुई करिश्मा बेटी समायरा भी दिखी साथ, सामनें आई ये खूबसूरत तस्वीरें

जाहन्वी और सारा से भी हॉट है बॉलीवुड़ की ये स्टार डॉटर,करवाया इतना खूबसूरत फोटोंशूट

विश्व सुंदरी ने पहना इस मशहूर फैशन डिजाइनर का खूबसूरत लहंगा

किसी खास फंक्शन के लिए अपनाए Ankita के ये स्टाइलिश अंदाज

 

 

 

 

 

You may also like

राजस्थानी महिलाओं के श्रृंगार के पीछे है ये राज, जाने इनके खास आभूषण के नाम!
सुबह सुबह अगर हो गए इनके दर्शन, तो पूरा दिन होगा शुभ