इंटरनेट डेस्क जब स्त्री मां बनती है तो उसके लिए यह समय बेहद ही सुखदभरा होता है जब वह अपने नन्हे शिशु को देखती है तो वह अपनी उस समय होने वाली पीडाओं को भूल जाती है बच्चे के माता-पिता बच्चों की परवरिश करने के लिए क्या कुछ नही करते है लेकिन कुछ ऐसे लोग भी होते है जिनकों माता- पिता बनने का सुख नही मिल पाता है जिसके लिए वह जाने कितने की तरह के उपचार और पूजा पाठ को करते है ना जानें माता-पिता के सुख को भोगने के लिए ये पंडितों के चक्कर लगाया करते है लेकिन अगर शास्त्रों की बात करें तो माता-पिता बनने का सुख आपको इस व्रत से नसीब हो सकता है केवल 3 महीनों तक इस व्रत को करें और फिर देखें एक नन्हे मेहमान की किलकारी आपके घर में भी गूंजने लगेगी।

धार्मिक ग्रंथों के अनुसार भगवान शिव की आराधना और उन्हें प्रसन्न करने के लिये प्रदोष व्रत का अनुष्ठान किया जाता है। यह व्रत चन्द्र मास की दोनों त्रयोदशी के दिन किया जाता है। एक शुक्ल पक्ष और दूसरा कृष्ण पक्ष के समय होता है। दक्षिण भारत में प्रदोष व्रत को प्रदोषम के नाम से भी जाना जाता है। प्रदोष व्रत से कई दोष की मुक्ति और संकटों का निवारण आपके जीवन में होता है। कहते हैं कि प्रदोष व्रत जब सोमवार को आता है तो उसे सोम प्रदोष कहते हैं। मंगलवार को आने वाले प्रदोष को भौम प्रदोष और शनिवार के दिन पड़ने वाले प्रदोष को शनि प्रदोष कहते हैं। प्रदोष व्रत अत्यंत फलकारी व्रत होता है जिसे करने के बाद आपको संतान सुख की प्राप्ति अवश्य होगी।

धर्मिक ग्रंथो के अनुसरार केवल तीन महीनों तक अगर आप महादेव और देवी पार्वती की अराधना सच्चे मन से करते है तो जल्द ही आपके जीवन भी संतान सुख के योग बनने लगेगे। अगर इस व्रत को लेकर बात करें तो प्रदोष व्रत के दिन सूर्य उदय से पूर्व उठकर गंगा स्नान या फिर किसी नदी में स्नान करना चाहिये। फिर आप शिव और पार्वती की उपासना करें।

अगर आप यह व्रत रख रहे है तो सिर्फ फलाहार का ही सेवन करें इसके बाद सूर्यास्त से एक घंटा पहले, स्नान करके सफेद वस्त्रों को धारण करें ईशान कोण की दिशा में प्रदोष व्रत की पूजा ज्यादा फलदायी होती है। जहां आप पूजा कर रहे है उस पूजा स्थल को शुद्द करने के लिए , गाय के गोबर से लीपकर, मंडप तैयार करें। और पूजा के दौरान अपना मुख उत्तर-पूर्व दिशा की और करके बैठें । ऐसा करना आपके लिए बेहद लाभकारी होगा जो आपके जीवन संतान सुख लाएगा।

You may also like

करवा चौथ स्पेशल:- 67 प्रतिशत महिलाएं मानती है कि करवाचौथ है प्यार जाहिर करने का एक बेस्ट तरीका! 
हनुमान चालीसा  पढ़ते समय भूलकर भी ना करें ये गललियां, वरना..