इंटरनेट डेस्क। वर्तमान के बदलते खानपान और लाइफस्टाइल की वजह से आजकल लोगों में ट्यूबरकुलोसिस यानी टीबी रोग काफी कॉमन रोग हो गया है। टीबी के रोग से लाखो लोग जूझ रहे है यह बीमारी पुराने समय से ही मृत्युओं का बड़ा कारण थी ही, लेकिन आज भी टीबी एक दुनिया भर में स्वास्थ्य की एक बड़ी समस्या है। पेट, किडनी, रीढ़ की हड्डी या ब्रेन में टीबी होना आजकल बहुत आम हो गया है। आज हम आपको टीबी से छुटकारा पाने के कुछ घरेलू उपायों के बारें में बताएंगे।

इसके लिए ताजा संतरे के जूस में नमक और शहद मिलाकर रोजाना सुबह-शाम पीएं। इसके अलावा संतरा खाने से भी टी बी के रोगी को फायदा होता है।

टी.बी. के साथ यदि ज्वर रहता है, तो तुलसी की 4 पत्तियां, चुटकी भर नमक, आधा चम्मच जीरा, एक चम्मच सोंठ। सबको एक कप पानी में उबालकर उसकी चाय बनाकर पिएं।

200 ग्राम शहद, 200 ग्राम मिश्री, 100 ग्राम घी के मिश्रण को दिन में 2-3 बार चाटने से आप टीबी रोग से छुटकारा पा सकते है।

इसको पीस कर पाउडर बना लें और इसमें कुछ पीसी हुए लहसुन की कलियां मिलाएं। अब इसमें घर में बना हुआ ताजा मक्खन मिलाकर खाएं।

लहसुन के रस के साथ आधा चम्मच शहद मिलाकर चाटें तथा लहसुन के रस को सूंघें। यह रस फेफड़ों को मजबूत करता है।

You may also like

सगाई के बाद हर लडक़ी को जरूर पूछनी चाहिए है अपने होने वाले पति से ये बात
पत्नी के प्रेग्नेंट होते ही पति को होने लगता है ये दर्द, नहीं हो पाता है हर किसी से जाहिर!