भारतीय परम्परा की बनारसी साड़ियां, जो लगाती है हर लड़की की ख़ूबसूरती में चार चाँद !

0
791

भारतीय परम्परा में हर लडक़ी जब भी कुछ ट्रेडि़शनल पहनती है तो उसकी खुबसूरती ना सिर्फ दुगूनी हो जाती है, बल्कि उनके चाहने वालो की संख्या में भी वृद्धी हो जाती है। लड़किया हर तरह की साडिय़ा किसी भी ऑकेजन में पहन सकती है। बनारसी साडिय़ा भी हर लडक़ी की पहली पंसद होती है। बनारसी साडिय़ो को चाहने वालो की संख्या इस देश में बेहद ज्यादा है। प्राचीन समय से ही बनारसी साडय़िों का प्रयोग विशेषतौर से विवाह समारोहों में दुल्हन व नवविवाहिता स्त्रियों द्वारा प्रयोग किया जाता था और आज तक यह परम्परा चलती आ रही है।

बनारसी साड़ी एक विशेष प्रकार की साड़ी है जिसे विवाह आदि शुभ अवसरों पर हिन्दू स्त्रियाँ धारण करती हैं। उत्तर प्रदेश के चंदौली, बनारस, जौनपुर], आजमगढ़, मिर्जापुर और संत रविदासनगर जिले में बनारसी साडय़िाँ बनाई जाती हैं। इसका कच्चा माल बनारस से आता है। पहले बनारस की अर्थव्यवस्था का मुख्य स्तंभ बनारसी साड़ी का काम था पर अब यह चिंताजनक स्थिति में है।

रेशम की साडय़िों पर बनारस में बुनाई के संग जऱी के डिजाइन मिलाकर बुनने से तैयार होने वाली सुंदर रेशमी साड़ी को बनारसी रेशमी साड़ी कहते हैं। ये पारंपरिक काम सदियों से चला आ रहा है और विश्वप्रसिद्ध है। कभी इसमें शुद्ध सोने की जऱी का प्रयोग होता था, किंतु बढ़ती कीमत को देखते हुए नकली चमकदार जऱी का काम भी जोरों पर चालू है। इनमें अनेक प्रकार के नमूने बनाये जाते हैं। बनारसी साडिय़ो को इन चीजो की सहायता से और भी अट्रेक्टिव बनाया जाता है:- जैसे बूटी, बूटा, कोनिया, बेल, जाल और जंगला, झालर आदि।


बनारसी साड़ी का मुख्य केंद्र बनारस है। यहां पटका, शेरवानी, पगड़ी, साफा, दुपट्टे, बैड-शीट, मसन्द आदि कलाओं का भी प्रयोग किया जाता है। बनारसी साड़ी बनाने वाले ज्यादातर कारीगर मुसलमान – अनसारी होते हैं। कवि कबीर भी बुनकर थे। इस साड़ी के खरीददार गुजराती, मारवाड़ी, राजपूत और जिम्मेदार घरानों के लोग होते हैं।


जब इन बूटियों में पाँच रंगो के धागों का प्रयोग किया जाता है तो इसे पचरंगा (जामेवार) कहा जाता है। यह बनारसी साड़ी के लिए प्रमुख आवश्यक तथा महत्वपूर्ण डिजाइनों में से एक है। इससे साड़ी के नीचे वाले हिस्से को सजाया जाता है। हालाँकि आजकल इसके लिए रेशमी धागों का भी प्रयोग किया जाता है जिसे मीना कहा जाता है जो रेशमी धागे से ही बनता है।


बेल
यह एक आरी या धारीदार फूल पत्तियों वाली डिज़ाइन हैं। कभी-कभी बूटियों को इस तरह से सजाया जाता है कि वे पट्टी का रूप ले लें। भिन्न-भिन्न जगहों पर अलग-अलग तरीके के बेल बूटे बनाए जाते हैं। बेल साडी के किनारे पर लगती है। उसे इस तरीके से नापा जाता है। कि यें बेल आपके सिर पर आए।

जाल :-
जाल, जैसे नाम से ही स्पष्ट होता है जाल के आकृति लिए बनारसी साड़ी बेहद खुबसूरत होती है। इसके भीतर बूटी बनाई जाती है जंगला डिज़ाइन प्राकृतिक तत्वों से काफी प्रभावित है। इन साडिय़ो के डिज़ाइन के लिए गोल्डन या चाँदी की जऱी का प्रयोग होता है जिसमें समस्त फूल, पत्ते, जानवर, पक्षी इत्यादि डिजाइन बने होते हैं। इसको करने के लिए अलग अलग रंगों के रेशम के धागों का प्रयोग किया जाता है। इसी प्रकार बेल जंगला भी बनाया जाता है।
 येलो बनारस सिल्क साड़ी



यैलो कलर की इस बनारस सिल्क साड़ी का बॉर्डर जरी का बना हुआ हैं। इस खूबसूरत बनारसी साड़ी की खूबसूरती देखते ही यें आपको पंसद आ जाएगी।

पिंक बनारसी साड़ी

गुलाबी रंग की बनारसी साड़ी पर गोल्डन कढ़ाई की गयी हैं और इसके साथ गोल्डन कलर का ब्लाउज परफेक्ट रहता है। यह खूबसूरत साडी किसी भी ऑकेजन पर पहनने के लिए उपयुक्त हैं।

पिंक और ब्लू बनारसी साड़ी

इस बनारसी साड़ी को दो बहुत ही सुन्दर कलर्स के कॉम्बिनेशन पिंक और ब्लू के साथ तैयार किया गया है। इस साड़ी का ब्लाउज पिंक रंग का हैं और इस साड़ी का पल्लू बहुत ही अट्रेक्टिव और प्यारा है। इस साड़ी की कीमत भी बहुत कम हैं।

 रेड बनारसी साड़ी

अगर आप ट्रेडि़शनल वियर करना चाहते है। तो यह साड़ी आपके लिए ही बनी हैं। इस साड़ी में रेड कलर है जो आप पर बेहतर तरीके से फबेगा।

कॉटन सिल्क बनारसी साड़ी


यह साड़ी 100 प्रतिशत शुद्ध कॉटन सिल्क से बनाई गयी हैं और इसके अद्भत रंग आँखों को बेहद सुकून देते है। इस साड़ी का पल्लू भी बेहद खुबसूरत है। इस साड़ी को आप किसी भी ऑकेजन में पहन कर सभी की नजरे अपने ऊपर टिका सकती है। यह साड़ी किसी भी शादी, अवसर या त्योहार के लिए उपयुक्त हैं।

पर्पल बनारसी साड़ी

पर्पल रंग की इस साड़ी पर जरी का काम हैं और इसके साथ इसी रंग का ब्लाउज भी उपलब्ध हैं। इस साड़ी को पहन कर आप किसी का भी दिल जीत सकती है।

पीच और ब्राउन बनारसी साड़ी

पीच रंग की यह साड़ी लड़कियों को बेहद पसंद आती है। इस साड़ी का खूबसूरत डिजाईन आप पर बेहद तरीके से खिलेगा। इसमें पीच और ब्राउन कलर का कॉम्बिनेशन बेहद कमाल का है। यह साड़ी 100 प्रतिशत शुद्ध कॉटन सिल्क से बनाई गई इस पर जरी और ब्रोकेड का वर्क हैं

ऑरेंज और रेड बनारसी साड़ी

ऑरेंज और रेड के मेल से बनी यह खूबसूरत साड़ी किसी को भी दीवाना कर देगी। इस साड़ी पर ज़री बुट्टा का वर्क है।

आसमानी बनारसी साड़ी

आसमानी रंग की यह साड़ी सादगी का प्रतीक हैं। यह उम्र की औरत या लडक़ी पर चार चाँद लगाएगी।

पिंक बनारसी साड़ी ब्रोकेड जरी



पिंक रंग की यह बनारसी साड़ी ब्रोकेड जरी से बनाई गयी हैं और इसका बॉर्डर भी जरी का ही है। यह साड़ी पहन कर आप अपने आप को किसी से कम नहंी समझेगी।

फैंसी मोजरी आपके ट्रेडिशनल वियर पर लगा देगी चार चांद!

बिग बॉस 11:- आकाश दादलानी ने शिल्पा शिंदे को कहा Undeserving

जावेद जाफरी की बेटी अलाविया नहीं बनना चाहती है एक्ट्रेस !

LEAVE A REPLY

two + 8 =