कल्चरल डेस्क: इस बार 51 साल के बाद महाशिवरात्रि का विशेष संयोग बन रहा है।  फाल्गुन मास की चतुर्दशी को मनाया जाने वाला यह त्यौहार 13 और 14 फरवरी मनाया जाना है। ऐसे में हर भक्त भगवान भोलेनाथ को प्रसन्न करने कि लिए कई तरह के पूजा-पाठ और उपवासों को करता है और भगवान शिव को कई तरह के भेंट पूजा के दौरान अर्पित करता है। ताकि भोले की कृपा उन पर बनी रहे। और मनचाहे वरदान की प्राप्ति उन्हे होवे। भगवान भोले को प्रसन्न करने के लिए दूध,तिल,मीठा धतूरा भांग बेलपत्र कई तरह की चीजें अर्पित की जाती है। लेकिन शास्त्रों और वेदों में ऐसा माना गया है कि अगर भगवान शिव के  शिवलिंग पर फूल चढाएं तो भगवान शिव जल्द ही प्रसन्न होते है।

ऐसे में अगर आप भगवानशिव ये फूल चढाएंगे तो भगवान शिव की कृपा आप पर बनी रहेगी और आपको मनचाहे वरदान की प्राप्ति होगी.... 

बेलपत्र शिव को चढ़ाना काफी लाभकारी है बेलपत्र को  मरेडू पत्तों के नाम से भी जाना जाता है। इस चढ़ाए बिना शिव की अधूरी मानी जाती है।

अपराजिता फूल भी शिव को चढ़ाना काफी लाभकारी है।  गहरें नीले रंग के इस फूल से देवता आकर्षित होते है  इसलिए वेदों में इस फूल से शिवलिंग की पूजा करने के लिए काफी लाभकारी माना गया है।

चंपा का फूल भी शिव को अर्पित करना बेहद लाभकारी है।  इस खूशबूदार फूल को आप शिवरात्रि के दिन भगवान शिवलिंग पर चढाएगे तो शिव की कृपा आप पर बनी रहेगी। और आपको मनचाहे फल की प्राप्ति होगी।

पीले रंग  का कनेर का फूल शिव को चढ़ाना काफी लाभकारी है  पीले गुलाबी रंग का यह फूल चढ़ाकर आपके जीवन में सकारात्मक उर्जा आएगी और आपको हर फल की प्राप्ति होगी।

वेदों में कहा गया है कि चमेली के फूल से शिवलिंग की पूजा करने से आपके जीवन में सकारात्मक उर्जा का संचार होगा और आपको हर कार्य में सफलता मिलेगी।

हिंदू शास्त्र में महिलाओं को है इन कामों को करने की है मनाही

 

 

 

 

 

 

You may also like

भारतीय संस्कृति में इन महत्वपूर्ण अधिकारों से आज भी बेदखल है महिलांए!
कृष्ण जन्माष्टमी 2018:- इस बार इस शुभ मुहूर्त में मनाया जाएगा ये प्यारा त्यौहार!