ज्योतिष डेस्क। व्यक्ति सपने के कई चीजो को देखता है। सुबह उठने पर कई बार ये सब याद रहता है तो वहीं कई बार हम भूल जाते हैं। स्वप्न शास्त्र के अनुसार व्यक्ति सपने में जो कुछ भी देखता है वह भविष्य के संकेत को दर्शाता है।

साथ ही सपने का आने वाले दृश्य भविष्य की घटनाओं का पूर्व संकेत देते हैं। स्वप्न शास्त्र के अनुसार हम आपको सपने में रोने का अर्थ बता रहे हैं।

अगर आप सपने में रोना देखते हैं तो स्वप्न शास्त्र के अनुसार यह असल जिंदगी में आपके मान सम्मान में वृद्धि करने वाला सूचक माना जाता है। यह सपना बताता है कि वे परिस्थितियां जल्द ही आने वाली हैं, जो समाज में आपके मान सम्मान को बढ़ा देंगी।

इसके अलावा खुद को सपने में रोते हुए देखने को कई बार अशुभ भी माना जाता है। शास्त्रों के मुताबिक अगर आप खुद को रोता हुआ देखते हैं तो ये आपकी मानसिक अवस्था का दर्शाता है।

सपने में खुद का रोना ‘दर्द’ को दर्शाता है। लेकिन साथ ही मनोवैज्ञानिकों का यह कहना है कि असल जिंदगी में जो लोग रो नहीं पाते, उनका यह दर्द सपने में रोने से कम हो जाता है। इसलिए सपने में खुद को रोता देखना और रोते हुए ही उठना मानसिक रूप से सही है।

लेकिन अगर आप किसी और को रोता हुआ देख रहे हैं, तो यह बताता है कि आप असल जीवन में किसी का साथ चाहते हैं। तो अगर आप अपने दर्द को कम करने में असमर्थ हैं तो सपने में किसी और को रोता देखने से आपको मानसिक शांति मिलती है।

You may also like

हनुमान चालीसा  पढ़ते समय भूलकर भी ना करें ये गललियां, वरना..
कल है अहोई अष्टमी, गलती से भी ना करें महिलाएं ये काम